product-img

सिडनी। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क को अपने ही देश के दिग्गजों की आलोचना झेलनी पड़ रही हैं। ऐसे विकट समय में स्टार्क को अप्रत्याशित रूप से भारतीय कप्तान विराट कोहली का समर्थन मिला है।

महान स्पिनर शेन वॉर्न ने बॉलिंग कंट्रोल और बॉडी लैंग्वेज के चलते तेज गेंदबाज स्टार्क की जमकर आलोचना की। कप्तान टिम पेन भी स्टार्क की परेशानी का पता नहीं लगा पाए। स्टार्क ने भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 35.43 की औसत से मात्र 13 विकेट लिए। स्टार्क टेस्ट करियर में 28.91 की औसत से 199 विकेट ले चुके हैं।

विराट कोहली आईपीएल में स्टार्क के साथ रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर की तरफ से खेल चुके हैं। विराट ने कहा कि ऐसे समय में स्टार्क की आलोचना किए जाने के बजाए उन्हें सपोर्ट करना चाहिए। वो एक शानदार गेंदबाज हैं और वे वर्षों से ऑस्ट्रेलिया के नंबर वन गेंदबाज रहे हैं। उनकी इस तरह आलोचना होती देख मैं हैरान हूं। यदि वे आपके श्रेष्ठ गेंदबाज हैं तो आपको उन्हें समय देना चाहिए। भारतीय कप्तान ने कहा, इस तरह की आलोचना से स्टार्क दबाव में आ जाएंगे। वे एक मैच विजेता गेंदबाज हैं।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने टीम की हार के बाद कहा था कि स्टार्क जब फॉर्म में हो तो वे दुनिया के श्रेष्ठ गेंदबाजों में शामिल होते हैं। लेकिन यदि वे लय में नहीं हो तो उनकी लाइन लैंथ गड़बड़ा जाती हैं। मुझे उनकी आलोचना पसंद नहीं है, इस वक्त उनका आत्मविश्वास डगमगाया हुआ है और उन्हें सपोर्ट की आवश्यकता है।


Related News