product-img

नई दिल्ली : पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद विपक्ष ने सरकार के साथ एकजुटता दिखाई है लेकिन विपक्ष के कुछ ऐसे नेता भी हैं जो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के संकल्प को कमजोर करते हुए दिखाई दे रहे हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मंगलवार को ऐसा ही बयान दिया। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के संकट को पहले हमें अपने घर में सुलझाना चाहिए। पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित करने की लगातार उठ रही मांग के सवाल पर उन्होंने कोई सीधा जवाब नहीं दिया।

पुलवामा हमले के बाद पूरे देश में गुस्सा है और लोग पाकिस्तान और आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होते देखना चाहते हैं।  सीआरपीएफ के शहीद जवानों का बदला लेने की भावना इस समय काफी प्रबल है लेकिन कुमारस्वामी अपने बयान से इस भावना को कमजोर करते दिखे हैं। मीडिया से बात करते हुए कुमारस्वामी ने कहा, 'पाकिस्तान को करारा जवाब देने से इस घटना का दुख कम होने वाला नहीं है। सरकार को इस तरह का कदम उठाना चाहिए ताकि इस तरह की घटनाएं दोबारा न हों।'


Related News