product-img

नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले के 100 घंटे के भीतर भारतीय सेना ने बदला ले लिया और जैश के कश्मीर के सबसे बड़े कमांडर कामरान को मार गिराया। मंगलवार को सेना, सीआरपीएफ और पुलिस की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस पूरे ऑपरेशन की जानकारी दी गई।

सेना के लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने बताया कि सेना ने 100 घंटे के अंदर की बदला ले लिया है। उन्होंने कश्मीर की माओं से अपील की कि वे अपने भटके बेटों से कहे कि वे घर लौट आए। साथ ही चेतावनी दी कि यदि किसी युवा ने बंदूक उठाई और आतंक के रास्ते पर गया तो मारा जाएगा।  सेना की ओर से बताया गया कि पुलवामा आतंकी हमले में ISI का हाथ होने का शक है। वहीं कश्मीर में जैश के सभी टॉप कमांडर ढेर होने के बाद स्थित नियंत्रण में है। सेना के प्रवक्ताओं के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान आर्मी का बच्चा है और जैश को ISI को कंट्रोल कर रही है। कश्मीर में बहुत समय बाद कार बम का प्रयोग किया गया है।

सेना की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

- कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा,हम नहीं चाहते कई स्थानीय नागरिक घायल हो, बेग़ुनाह नागरिक मरें, नागरिक सिक्योरिटी के चलते हमारे ज़्यादा जवान शहीद।


Related News