product-img

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की तेजी से बढ़ रही जनसंख्या पर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की है। कोर्ट ने इसे "टिकटिक करता टाइमबम" बताते हुए धार्मिक विद्वानों, नागरिक संगठनों और सरकार से जनसंख्या नियंत्रण के उपायों को बढ़ावा देने की अपील की।

इन उपायों में प्रति परिवार दो बच्चों का नियम भी शामिल है। सुप्रीम कोर्ट ने संस्थानों से देश में जनसंख्या नियंत्रण के कदमों का प्रचार के लिए कदम उठाने की अपील की। चीफ जस्टिस साकिब निसार के नेतृत्व वाली तीन सदस्यों की एक पीठ ने पाकिस्तान में जनसंख्या नियंत्रण से जुड़े मामले की सुनवाई के दौरान यह बात कही।


Related News