product-img

मुंबई: रिषभ पंत ने भले ही ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट में 11 कैच लेकर भारतीय विकेटकीपर का नया रिकॉर्ड बनाया हो लेकिन फारूख इंजीनियर ने कहा कि दिल्ली के इस युवा खिलाड़ी की विकेटकीपिंग में कुछ तकनीकी खामियां हैं, लेकिन उन्होंने उसकी बल्लेबाजी प्रदर्शन की प्रशंसा की। पूर्व भारतीय विकेटकीपर इंजीनियर ने कहा कि पंत को देखकर उन्हें अपनी जवानी के दिन याद आ गये। इंजीनियर ने यहां एक कार्यक्रम के इतर कहा, 'उसका( पंत) तरीका एम एस धोनी जैसा ही है। लेकिन इस समय उसकी इतनी तारीफ मत कीजिये। उसे प्रोत्साहित कीजिये। लेकिन वह तकनीकी रूप से गलत है।'

पंत ने आस्ट्रेलिया में सिडनी में ड्रा हुए अंतिम टेस्ट में एक शानदार शतक भी जड़ा जिससे वह ऐसा करने वाली पहले भारतीय विकेटकीपर बन गये और एडीलेड में पहले मैच में उन्होंने विकेट के पीछे रिकॉर्ड संख्या में कैच लिये।  पंत की बल्लेबाजी से इंजीनियर इतने प्रभावित हैं कि वह इस बात से हैरान हैं कि भारतीय चयनकर्ता इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के लिये वे धोनी को लेकर पंत को कैसे छोड़ सकते हैं।
 
उन्होंने कहा, 'सवाल यह है कि विश्व कप के लिये क्या आप धोनी को चुनोगे? आप पंत को कैसे छोड़ सकते हो? उसने इतना बढ़िया प्रदर्शन किया है। ये चयनकर्ताओं के लिये सवाल हैं, तीन चयनकर्ताओं के लिये जिन्होंने मिलाकर एक या डेढ़ टेस्ट मैच खेले होंगे।' उन्हें बताया गया कि अब सूची में दो और चयनकर्ताओं को शामिल कर दिया गया है जिससे अब यह पांच सदस्यीय चयन पैनल बन गया है। इंजीनियर ने कहा, 'मैं सख्त नहीं दिखना चाहता। पर उसे समय दीजिये। वह (पंत) सुधार करेगा। काश मैं उसे अच्छा विकेटकीपर बनने के लिये टिप्स दे पाता।'


Related News