product-img

मुंबई। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 44 जवान शहीद हो गए। CRPF का काफिला जम्मू से कश्मीर की ओर जा रहा था। 28 साल के ठाका बेलकर इस आतंकी हमले में मौत के मुंह से निकलकर आए क्योंकि उनकी छुट्टी ऐनमौके पर मंजूर हो गई थी और वे बस से उतर गए थे।

सीआरपीएफ जवान बेलकर की 24 फरवरी को शादी होनी थी तो उन्होंने छुट्टी के लिए अर्जी दे रखी थी। हालांकि तब तक छुट्टी मंजूर नहीं हुई थी तो वह भी उस बस में सवार हो गए थे जिस परआत्मघाती हमला हुआ था लेकिन बस चलने से पहले उतर गए क्योंकि उनके पास सूचना आई कि उनकी छुट्टी मंजूर हो गई है।


Related News