product-img

मेलबर्नः स्पिनर युजवेंद्र चहल (6 विकेट) की शानदार गेंदबाजी और महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 87 रन) की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला 7 विकेटों से अपने नाम कर लिया। 231 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेहमान टीम ने 3 विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। इस जीत के साथ भारतीय टीम वनडे सीरीज पर 2-1 से कब्जा करने में कामयाब रही। सीरीज के पहला मैच में जहां ऑस्ट्रेलिया ने 34 रनों से जीत दर्ज की वहीं दूसरे मैच में भारतीय टीम ने छह विकेट से विजय हासिल की।  भारत ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीती है। भारत ने करीब दो महीने लंबे ऑस्ट्रेलियाई दौरे का अंत जीत के साथ किया है। ऑस्ट्रेलियाई दौरा भारत के लिए यादगार रहा। इससे पहले भारत ने ऑस्ट्रेलिया को घर में ही चार टेस्ट मैचों की सीरीज में मात देकर इतिहास रचा था। हालांकि, मेहमान टीम तीन20 मैचों की सीरीज जीतने से चूक गई। यह सीरीज ड्रॉ 1-1 से ड्रॉ हो गई थी। 

मेलबर्न में खेले गए तीसरी वनडे में भारत की शुरुआत बेहद खराब रही। मेहमान टीम को पहला झटका रोहित शर्मा के रूप में 15 के कुल स्कोर पर लगा। रोहित 17 गेंदों में 9 रन बनाकर पीटल सिडल का शिकार बन गए। इसके बाद शिखर धवन (23) और विराट कोहली ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों टीम को 50 रन के पार ले गए। लेकिन संभलाकर बल्लेबाजी कर रहे धवन 17वें में मार्कस स्टोइनिस की गेंद पर कॉट एंड बोल्ड हो गए।


Related News