product-img

किरण वाईकर। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर चार टेस्ट मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमाया। ऑस्ट्रेलिया को अपने घर में पहली बार भारत के हाथों टेस्ट सीरीज गंवानी पड़ी। ऑस्ट्रेलिया को स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की कमी खली। कंगारू टीम की तरफ से सीरीज में एक भी शतक नहीं लगा और और टीम को 133 साल के बाद ऐसी शर्मनाक स्थिति से गुजरना पड़ा।

भारत ने एडिलेड और मेलबर्न टेस्ट जीते जबकि ऑस्ट्रेलिया पर्थ टेस्ट में विजयी रहा। भारत की तरफ से इस सीरीज में पांच शतक लगाए गए जिनमें से 3 शतक तो मैन ऑफ द सीरीज चुने गए चेतेश्वर पुजारा ने लगाए। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सीरीज में एक भी शतक नहीं लग पाया। मार्कस हैरिस ने सिडनी में 79 रनों की पारी खेली थी जो इस सीरीज में मेजबान टीम की तरफ से सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर रहा।

ऑस्ट्रेलिया के साथ 130 से ज्यादा वर्षों में पहली बार ऐसा हुआ जब उसकी तरफ से चार या ज्यादा टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज में कोई शतक नहीं लगाया गया। 1884-1885 के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि किसी घरेलू सीरीज (चार या ज्यादा मैच) में ऑस्ट्रेलिया की तरफ से कोई सेंचुरी नहीं लगी।

स्मिथ-वॉर्नर ने लगाए थे 7 शतक : ऑस्ट्रेलिया ने 2014-15 में भारत के खिलाफ अपने घर में खेली गई पिछली टेस्ट सीरीज में 2-0 से जीत दर्ज की थी। टीम की जीत में कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर का महत्वपूर्ण योगदान रहा था। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से उस सीरीज में 8 शतक लगाए गए थे जिनमें से 7 शतक स्मिथ और वॉर्नर ने लगाए थे। स्मिथ ने 4 और वॉर्नर ने 3 शतकीय पारियां खेली थी।


Related News