इंदौर के सैकड़ों किसानों को नहीं मिला सोयाबीन फसल के नुकसान का बीमा

0

सरकार किसानों को राहत देने की कितनी ही योजनाएं लेकर आए, लेकिन सरकारी तंत्र की लापरवाही से वह नाकाम ही साबित होती हैं। इन्हीं में से एक है फसल बीमा योजना। योजना के तहत इंदौर के सैकड़ों किसानों को वर्ष 2019 की बीमा राशि नहीं मिल पाई है। इसमें राजस्व, कृषि विभाग, बैंक और बीमा कंपनी की लापरवाही सामने आ रही है। सहकारी और राष्ट्रीयकृत बैंकों से कृषि ऋण लेने वाले किसानों की प्रीमियम राशि से काटी गई है, लेकिन जब फसल नुकसानी पर बीमा राशि का भुगतान देने की बारी आई तो कई किसानों के नाम सूची में मिले ही नहीं।

जिले की विभिन्न गांवों के ऐसे कई किसान हैं जिनको वर्ष 2019 की बीमा राशि नहीं मिली है। इंदौर प्रीमियर को-ऑपरेटिव बैंक से जुड़ी उजालिया, कनवासा, अटाहेड़ा, नांदरा सहित अन्य प्राथमिक कृषि सहकारी संस्थाओं में ऐसे कई किसान हैं। बताया जाता है कि अधिकांश किसानों को मुआवजा राशि मिल चुकी है लेकिन कई इसलिए वंचित हैं कि उनके कृषि भूमि के सर्वे नंबर, बैंक खाता नंबर या आधार नंबर की इंट्री करने में गलतियां हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here