ऑनलाइन शिक्षा का विरोध

0

शासन के द्वारा कोविड-19 के चलते काफी लंबे समय से प्राइवेट स्कूलों को खोले जाने की अनुमति नहीं दी गई है जिसका प्राइवेट स्कूल संगठन के द्वारा लगातार विरोध किया जा रहा है जिसको लेकर आज जिले के तमाम प्राइवेट स्कूलों ने ऑनलाइन पढ़ाई बंद कर शासन की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई।

आपको बताएं कि शासन के द्वारा हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोले जाने की तैयारी की जा रही है लेकिन प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों को 30 मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया है इस निर्णय का लगातार प्राइवेट स्कूल प्रबंधन विरोध कर रहे हैं प्राइवेट स्कूल संचालकों का कहना है कि अभी सांकेतिक तौर पर ऑनलाइन शिक्षा पर विराम लगाया गया है यदि शासन प्राइवेट स्कूलों के हित में फैसला नहीं लेती है तो आगामी समय में प्राइवेट स्कूल प्रबंधन सख्त निर्णय ले सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here