कश्मीर मसले पर तुर्की को भारत की दो टूक, आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप पूरी तरह से अस्वीकार्य

0

नई दिल्ली : भारत (India) ने तुर्की के राष्ट्रपति (Turkish President) एर्दोगन (Erdogan) द्वारा यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली (united nations general assembly) में दिए भाषण के दौरान कश्मीर (Kashmir) को लेकर दिए बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. संयुक्त राष्ट्र में भारतीय राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप पूरी तरह से अस्वीकार्य है.

टीएस तिरुमूर्ति ने एक ट्वीट में कहा, “हमने जम्मू और कश्मीर (Indian UT ) पर तुर्की (Turkey) के राष्ट्रपति की टिप्पणी देखी है. वो भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहे हैं यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है.” आगे लिखा है, “तुर्की को अन्य देशों की संप्रभुता का सम्मान करना सीखना चाहिए और अपनी नीतियों को और अधिक गहराई से प्रतिबिंबित करना चाहिए.”

बता दें कि तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा था कि ‘कश्मीर अभी भी एक ज्वलंत मुद्दा है और जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति के उन्मूलन के लिए उठाए गए कदमों ने समस्या को और अधिक जटिल कर दिया है. संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के ‘ढांचे’ के भीतर इस मुद्दे को हल करना चाहिए.’

हालांकि यह पहली बार नहीं है जब तुर्की के राष्ट्रपति ने कश्मीर को लेकर टिप्पणी की है. उन्होंने अपने पिछले साल के UNGA भाषण के दौरान और बाद में पाकिस्तानी संसद को संबोधित करते हुए पाकिस्तान की यात्रा के दौरान भी इसका उल्लेख किया था.

तुर्की और पाकिस्तान (Pakistan) घनिष्ठ सहयोगी के रूप में उभरे हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनी लॉंड्रिंग (Money laundering) व आतंकवाद को वित्तीय मदद (terrorist funding) जैसे मुद्दों पर FATF से जुड़े मामलों सहित कई स्तर पर अंकारा (Ankara) इस्लामाबाद (Islamabad) का समर्थन करता रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here