किसानों के भारत बंद में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता हावी

0

कृषि बिलों के खिलाफ किसान संगठनों का आज भारत बंद रह, हालांकि अब तक की तस्वीर में राजनीतिक दल हावी दिखाई दे रहे हैं यानी किसानों की तुलना में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता बंद को लेकर ज्यादा जोश दिखा रहे हैं। अधिकांश राज्यों में मिलाजुला असर है। बता दें 13 विपक्षी दलों ने किसानों के बंद का समर्थन किया है। पंजाब और हरियाणा के साथ गैर भाजपा शासित राज्यों में बंद का असर देखने को मिल रहा है। यहां राजनीतिक दल जबरन दुकानें बंद करवा रहे हैं।

किसान संगठनों ने कहा है कि 11 बजे से बंद शुरू होगा, जो दिनभर रहेगा। 3 बजे तक चक्काजाम किया जाएगा। प्रदर्शन कर रहे किसानों ने ठीक 11 बजे दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे को बंद कर दिया। हालांकि इस दौरान शव लेकर जा रही एक एंबुलेंस को रास्ता दिया गया। किसान नेता लगातार अपील कर रहे हैं कि किसी तरह की तोड़फोड़ और हिंसा नहीं करना है।इस दौरान एंबुलेंस और शादी से जुड़े वाहनों को छोड़कर अन्य सभी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाएंगे। इस दौरान सब्जी, फल और दूध जैसी जरूरी चीजों की आपूर्ति भी बंद रहेगी। इस बीच पूरे मामले पर राजनीति जारी है। आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाउस अरेस्ट कर दिया है। वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने इन आरोपों का खंडन किया है कि यह राजनीति से प्रेरित आंदोलन है। राउत ने कहा, यह राजनीति नहीं, हमारी संवेदनाएं हैं। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह को बड़ा दिल दिखालकर किसानों के पास जाकर उनकी समस्याएं हल करना चाहिए। कांग्रेस ने भी सभी जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन की योजना बनाई है। वहीं गुजरात में विजय रूपाणी सरकार ने कहा है कि जबरदस्ती बंद करवाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पढ़िए भारत बंद का हर अपडेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here