कोरोना महामारी के चलते नसबंदी शिविर पर लगा ग्रहण

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज़)। जनसंख्या वृद्धि पर अंकुश लगाने के लिए परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत शासन प्रशासन के द्वारा हर वर्ष जिले में बड़े पैमाने पर नसबंदी शिविर का आयोजन किया जाता है जिसको लेकर विभिन्न योजनाओं के तहत प्रोत्साहन कार्यक्रम भी चलाएं जाते हैं लेकिन जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले की वजह से स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित किए जाने वाले नसबंदी शिविर पर ग्रहण लग गया है आपको बताएं कि पिछले 6 महीनों में जिले के किसी भी विकासखंड में नसबंदी शिविर का आयोजन नहीं किया जा सका है जबकि पिछले वर्ष करीब 1000 से अधिक नसबंदी शिविर के माध्यम से की गई थी ।
नसबंदी शिविर आयोजित करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा स्वास्थ्य विभाग
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए शासन के द्वारा जुलाई माह में एक गाइडलाइन जारी की गई थी जिसमें जिले के तमाम विकास खंडों में नसबंदी शिविर का आयोजन किया जाना था शासन की गाइडलाइन के तहत केवल 10 लोगों का एक शिविर में नसबंदी किए जाने का प्रावधान था लेकिन स्वास्थ्य विभाग इस गाइडलाइन का पालन करते हुए नसबंदी शिविर का आयोजन करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कई बार नसबंदी कैंप के लिए कैलेंडर जारी किया गया है जिसको मेल के माध्यम से सभी विकास खंडों के जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारियों को भी भेजा जा चुका है लेकिन इसके बावजूद जिले के किसी भी विकासखंड में नसबंदी शिविर का आयोजन नहीं हो पाया है। और शासन के जनसंख्या वृद्धि पर अंकुश लगाने के प्रयास पर पूरी तरह से पानी फिर चुका है। शासन के द्वारा लोगों को नसबंदी के लिए प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन राशि में भी बढ़ोतरी की गई है लेकिन अब तक जो भी प्रयास किए गए हैं वह जमीनी धरातल पर सफल नहीं हो पाए।
पिछले वर्ष शिविर के माध्यम से 930 लोगों की कराई गई थी नसबंदी
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों पर गौर किया जाए तो पिछले वर्ष अगस्त माह तक 930 नसबंदी कराई गई थी और विभिन्न ब्लॉकों में कैंप लगाकर लोगों को नसबंदी के लिए प्रोत्साहित किया गया था जिसमें 62 पुरुष एवं 868 महिलाओं के नसबंदी की गई थी वहीं इस वर्ष केवल आकस्मिक परिस्थिति में लेप्रोस्कोपिक पद्धति से 14 महिलाओं की नसबंदी की गई है वही प्रसव के दौरान 350 महिलाओं की नसबंदी की गई हैं लेकिन कैंप के माध्यम से किसी भी विकासखंड में नसबंदी नहीं कराई जा सकी है।
स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के तहत नहीं आयोजित किए गए नसबंदी कैंप- उप मीडिया प्रभारी
इस संदर्भ में सूचना शिक्षा संचार विभाग के उप मीडिया प्रभारी कलावती कटरे ने बताया कि कुछ महीनों से कोरोना पॉजीटिव्ह मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हुआ है क्योंकि नसबंदी शिविर में आधा सैकड़ा से अधिक मरीजों की नसबंदी कराई जाती है जिसके कारण शासन की गाइडलाइन का पालन नहीं हो पाएगा इसलिए स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विगत कुछ महीनों से नसबंदी शिविर पर विराम लगा दिया गया है और जब तक कोरोनावायरस संक्रमण नहीं थमता है तब तक नसबंदी शिविर जिले के किसी भी विकासखंड में नहीं लगाए जाएंगे क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि एक कैंप में 60 से 70 नसबंदी के केस आते हैं और उनके साथ स्वास्थ्य कर्मचारी सहित उनके परिजन भी होता है इन हालातों में सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य शासन की गाइडलाइन का पालन करना मुश्किल है इस वजह से कैंप का आयोजन नहीं किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here