कौवे नहीं दिखे तो मध्य प्रदेश के विदिशा में बना दिया काग उद्यान

0

कुछ साल पहले तक विदिशा शहर में कौवे दिखाई नहीं देते थे। पितृ पक्ष में कौवे को भोजन कराने की परंपरा के निर्वहन के लिए लोगों को काफी भटकना पड़ता था, लेकिन कौवे नहीं दिखते थे। मुक्तिधाम सेवा समिति ने दो साल पहले इस परेशानी को दूर करने का उपाय ढूंढा और बेतवा के तट पर काग उद्यान बनाया। समिति का दावा है कि यह देश का इकलौता काग उद्यान है।

पितृपक्ष में लोग यहां उनका भाग यानी भोजन लेकर पहुंच रहे हैं। समिति के सचिव मनोज पांडे बताते हैं कि दो साल पहले कुछ लोग बेतवा नदी पर श्रमदान करने पहुंचे तो कौवे की कमी पर चर्चा हुई। इस दौरान लोगों के मन में काग उद्यान बनाने का विचार आया। इसके बाद मुक्तिधाम के सामने स्थान तय किया। पहले यहां खाद्य पदार्थ डालना शुरू किए। दो दिन बाद एक कौवा आया और रोटी लेकर चला गया।

लोग प्रतिदिन यहां रोटी, कचौड़ी और बिस्किट डालने लगे। धीरे-धीरे कौवे बढ़ने लगे। इसे देखते हुए विधिवत उद्यान बना दिया। इसका उद्घाटन 2018 में जल पुरुष राजेंद्रसिंह ने किया था। उसके बाद यहां खाद्य सामग्री रखने के लिए स्टैंड बनाए। वर्तमान में प्रतिदिन 100 से अधिक कौवे उद्यान में आते-जाते हैं, जिनके लिए नियमित श्रमदानी प्रतिदिन खाद्य सामग्री डालते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here