गुणवत्ता की खुल रही पोल

0

लालबर्रा से होकर गुजरने वाले सर्वाधिक व्यस्ततम सिवनी-बालाघाट राज्य मार्ग क्र.७२ में ग्राम पंचायत गर्रा से लेकर कंजई तक सड़क में बने खतरनाक गड्ढों से परेशान वाहन चालकों व राहगीरों को सुलभ आवागमन मुहैया कराने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण विभाग के द्वारा हाल ही में लाखों रूपये की लागत से ठेकेदार के माध्यम से गड्ढों को पाटकर डामरीकरण करवाया गया है।

इस कार्य को पूरा हुए लगभग एक माह भी नहीं हुए कि राज्य मार्ग में बिछाया गया डामर जगह-जगह से उखडऩे लगा है जिसकी तत्काल ही ठेकेदार के द्वारा मरम्मत करवाई जा रही है, इस कार्य को देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि राज्य में आधा-अधूरा किया गया डामरीकरण कार्य कितना गुणवत्तापूर्ण हुआ है।

पद्मेश की टीम ने जब ग्राम पंचायत कंजई से गर्रा तक राज्य मार्ग क्रमांक ७२ में किये गये डामरीकरण का जायजा लिया तो पाया कि राज्य मार्ग में जहां-जहां खतरनाक गड्ढे मौजूद थे एवं जिस स्थान पर रोड अधिक खराब थी सिर्फ वहां पर डामरीकरण किया गया है एवं आधा-अधूरा डामरीकरण किये जाने से मार्ग का लेवल बराबर नहीं है जिससे वाहन चालकों व राहगीरों को हिचकोले खाते हुए सफर करना पड़ रहा है। लालबर्रा से कंजईके बीच में कई स्थानों पर बिछाया गया नया डामर उखडऩे लगा है।

जिसमें ठेकेदार के कर्मचारी मरम्मत कार्य करते नजर आये वहीं पाथरशाही के समीप मार्ग में किये गये डामरीकरण की परत उखडऩे से कर्मचारियों के द्वारा परत हटाकर पुन: मरम्मत की जा रही थी, इसके अलावा रा’य मार्ग में कई स्थानों पर डामर की परत उखडऩे लगी है जिसका मरम्मत कार्य प्रारंभ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here