जबलपुर में पांच नए क्षेत्र कोरोना के लिए संवेदनशील, दस कंटेमेंट जोन डिनोटिफाई

0

लंबे समय तक कोरोना के नए मरीज सामने न आने के बाद जिला प्रशासन ने दस कंटेमेंट जोनों को डिनोटिफाई कर दिया है। वहीं कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद पांच नए कंटेमेंट जोन बनाए गए हैं। नए जोन कोरोना संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील माने गए हैं। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने उक्त आदेश मंगलवार को जारी किए। जिन क्षेत्रों को संवेदनशील माना गया है उनमें पांडेय अस्पताल के पीछे का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 277 कछियाना गढ़ा फाटक के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, जेके हुसैन कम्पाउंड सदर के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 1732 न्यू कंचन विहार विजय नगर के आसपास का प्रभावित क्षेत्र तथा मकान नम्बर 822 संजीवनी नगर गढा के आसपास का प्रभावित क्षेत्र शामिल है।

इसी प्रकार जिन दस क्षेत्रों को कण्टेनमेंट से मुक्त किया गया है, उनमें मकान नम्बर 477 शिवनगर दमोहनाका के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 48 नर्मदा नगर ग्वारीघाट के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 399 एसबीआई कॉलोनी स्नेह नगर के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 4701 कृष्णा हाईट्स ग्वारीघाट के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, ओल्ड बर्न कम्पनी रेल सौरभ कॉलोनी के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, वार्ड क्रमांक तेरह सीहोरा के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, सदर गली नम्बर दो मकान नम्बर 76/77 के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, सदर गली नम्बर छह के आसपास का प्रभावित क्षेत्र, मकान नम्बर 33 अग्रवाल धर्मशाला सराफा के आसपास का प्रभावित क्षेत्र तथा मकान नम्बर 27 द्वारका नगर कांचघर के आसपास का प्रभावित क्षेत्र शामिल है।

यह होता है कंटेमेंट जोन: जिन क्षेत्रों में कोरोना के मरीज निर्धारित संख्या से ज्यादा मिलते हैं उन्हें कंटेमेंट जोन में रखा जाता है। लोगों को दो गज की दूरी बनाए रखने के साथ कोरोना संक्रमण क्षेत्र से बाहर नहीं निकलने दिया जाता। कुछ अनिवार्य सेवाओं के अलावा अन्य सेवाएं बाधित रहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here