दरिंदगी के 15 दिन बाद हाथरस दुष्कर्म पीड़िता की दिल्ली में मौत, पढ़िए दिल दहला देने वाला घटनाक्रम

0

उत्तर प्रदेश के हाथरस में पंद्रह दिन पहले दुष्कर्म का शिकार हुई लड़की की इलाज के दौरान दिल्ली में मौत हो गई है। उसे बेहतर इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल लाया गया था, लेकिन मंगलवार सुबह पीड़िता हिम्मत हार गई। पीड़िता की उम्र 19 वर्ष थी। बीती 14 सितंबर को हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में चार युवकों ने उसके साथ दरिंदगी की थी। इस दौरान युवती की रीढ़ की हड्डी टूट गई थी। दरिंदों ने उसकी जीभ भी काट दी थी। गंभीर हालत में उसे अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती करवाया गया था, लेकिन हालात में सुधार नहीं होने पर उसे दिल्‍ली लाया गया था। पूरी मामले में यूपी पुलिस की ढिलाई की भी आलोचना हो रही है। पुलिस लंबे समय तक इसे छेड़छाड़ का केस बताते हुए रिपोर्ट दर्ज करने से बचती रही। मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

पूरे मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी हमलावर हो गई हैं। प्रियंका ने ट्वीट पर लिखा, …यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है। महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है।अपराधी खुले आम अपराध कर रहे हैं। इस बच्ची के क़ातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। हाथरस में हैवानियत झेलने वाली दलित बच्ची ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। दो हफ्ते तक वह अस्पतालों में जिंदगी और मौत से जूझती रही। हाथरस, शाहजहांपुर और गोरखपुर में एक के बाद एक रेप की घटनाओं ने राज्य को हिला दिया है।

नहीं बढ़ेंगे डीएपी, एनपीके फर्टिलाइजर के दाम

इफको रबी बोआई सीजन के दौरान डीएपी और एनपीके फर्टिलाइजर के दाम नहीं बढ़ाएगी। इफको के एमडी यूएस अवस्थी ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में इन फर्टिलाइजर्स के कच्चे माल के दाम में काफी बढ़ोतरी हुई है। लेकिन इफको डीएपी और एनपीके के खुदरा दाम में कोई बदलाव नहीं करेगी। गौरतलब है कि इफको खाद के उत्पादन और मार्केटिंग की प्रमुख संस्था है। देशभर में उसके खाद उत्पादन के पांच संयंत्र हैं।

पेटीएम ने फिर शुरू किया कैशबैक प्रोग्राम

ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पेटीएम ने सोमवार को बताया कि क्रिकेट लीग से जुड़ा यूपीआइ कैशबैक प्रोग्राम फिर से शुरू कर दिया गया है। इसमें पसंदीदा क्रिकेट स्टार के स्टिकर पर मिलने वाले प्वांइट्स को इकट्ठा कर एक हजार रुपये तक का कैशबैक लिया जा सकता है। स्कीम को लेकर गूगल की प्रतिक्रिया आनी अभी बाकी है। कुछ दिन पहले पेटीएम के इसी तरह की एक स्कीम को गूगल ने अपने नियमों के विरुद्ध बताते हुए प्ले स्टोर से हटा दिया था। स्कीम के वापस लेते ही हालांकि इसे वापस गूगल प्ले स्टोर में जगह दे दी गई थी। इस घटना पर पेटीएम ने गूगल पर मनमाना रवैया अपनाने का आरोप लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here