दुकानें लगने से बढ़ रहा खतरा

0

लालबर्रा (पद्मेश न्यूज)। मुख्यालय से लगभग १ किमी. दूर राज्य मार्ग क्रमांक ७२ में मानपुर व बकोड़ा के बीच पांगा तालाब स्थित मोड़ाई में सड़क की पटरी में गड्ढे होने से वाहन चालकों व राहगीरों के लिये सफर करना खतरनाक साबित हो रहा है वहीं पूर्व में पुलिस विभाग द्वारा लगाये गये बेरिकेट्स हटा दिये गये है जिससे वाहनों की रफ्तार तेज हो गई है, ऐसी स्थिति में इस मोड़ पर कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना घटित होने से इंकार नहीं किया जा सकता है लेकिन संबंधित विभाग का इस ओर ध्यान आकर्षित नहीं हो पा रहा है। पद्मेश की टीम ने जब सड़क का जायजा लिया तो पाया कि पांगा तालाब मोड़ाई में सड़क जर्जर हो गई है एवं इस स्थान पर पूर्व में पुलिस प्रशासन द्वारा यातायात व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिये लगाये गये बेरिकेट्स हटा दिये गये है हालांकि मार्ग में सफेद रंग की संकेतक पट्टी जरूर लगाई गई है लेकिन यह पट्टी तेज गति पर ब्रेक लगाने के लिये नाकाफी साबित हो रही है, बेरिकेट्स नहीं होने से इस मोड़ में तीन दिशाओं से दोपहिया, चौपहिया वाहन चालकों के द्वारा तेज गति से वाहनों को दौड़ाया जा रहा है जिससे समीप से गुजरने वाले राहगीर कई बार सहम जाते है वहीं सड़क की पटरी में एक ओर गड्ढे निर्मित हो गये है जहां आमने-सामने से दो बड़े वाहनों के गुजरने पर वाहनों के एक साइड का पहिया गड्ढों से होकर गुजरता है जिससे यात्री वाहन व अन्य वाहन चालकों को परेशानी हो रही है। पांगा तालाब मोड़ाई में तिराहा होने की वजह से लोगों की भारी आवाजाही को देखते हुए विगत कुछ दिनों से ग्रामीणजनों व सब्जी विक्रेताओं के द्वारा अपनी दुकान लगाकर दिन भर व्यवसाय किया जा रहा है वहीं अपनी सुविधा को देखते हुए मार्ग से गुजरने वाले वाहन चालकों व राहगीरों के द्वारा पांगा तालाब मोड़ाई में रूककर सब्जी, फल सहित अन्य सामग्रियों की खरीदी की जा रही है जिसकी वजह से इस तिराहे मोड़ पर लोगों की काफी संख्या जुटती रहती है एवं दिन-ब-दिन सब्जी विके्रताओं की संख्या भी बढ़ते जा रही है, ऐसी स्थिति में तेज गति से दौड़ रहा कोई वाहन यदि अनियंत्रित हो जाये तो मोड़ में मौजूद राहगीरों व सब्जी विक्रेताओं को अपनी चपेट में ले सकता है जिससे कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना घटित हो सकती है एवं इस खतरनाक मोड़ पर पूर्व में कई वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा चुके है। विदित हो कि राज्य मार्ग क्रमांक ७२ में नगर मुख्यालय से मानपुर व बकोड़ा तक हमेशा यातायात का दबाव बना रहता है जहां से लालबर्रा से बालाघाट, लालबर्रा से वारासिवनी, लालबर्रा से मोहगांव (ध) व जिला सिवनी-जबलपुर रूट के लिये प्रतिदिन हजारों की संख्या में वाहन गुजरते है साथ ही इस क्षेत्र के ग्रामीणजन इसी मार्ग से मुख्यालय पहुंचते है लेकिन पांगा तालाब मोड़ाई में वाहनों की गति कम नहीं होने से आवागमन करने वाले लोगों व सब्जी की दुकान लगाकर व्यवसाय कर रहे दुकानदारों के लिये यह मोड़ खतरनाक साबित हो रहा है। आपको बता दें कि पांगा तालाब मोड़ पर पूर्व में कई दुर्घटनायें घटित हो चुकी है जिसमें कई लोगों की जानें भी जा चुकी है, पूर्व में घटित दुर्घटनाओं से सबक लेकर पुलिस प्रशासन द्वारा बेरिकेट्स लगवाये गये थे जो वर्तमान में वहां से हटाये जा चुके है, इस मार्ग से होकर प्रशासनिक अधिकारी, नेता, सरकार के मंत्रीगण व क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि गुजरते है परंतु किसी का भी सड़क की बदहाल स्थिति की ओर कोई ध्यान नही है, यदि समय रहते विभाग द्वारा ध्यान नहंी दिया गया तो कोई बड़ी अनहोनी से इंकार नहीं किया जा सकता है। राहगीरों ने शासन-प्रशासन से वाहनों की रफ्तार पर लगाम लगाने के लिये बेरिकेट्स लगाये जाने, सड़क की दोनों ओर पटरियों की भराई करवाये जाने एवं सड़क पर मौजूद गड्ढों का पेंच कार्य करवाये जाने की मांग की है ताकि किसी प्रकार की अनहोनी से बचा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here