पढ़ाई के लिए तैयार कन्या परिसर

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज)। शहर से 4 किलोमीटर दूर गोगलई कृषि उपज मंडी परिसर के निकट आदिवासी कल्याण विभाग द्वारा आदिवासी कन्या शिक्षा परिसर भवन का निर्माण कार्य करवाया गया है जो पूरी तरह से तैयार हो चुका है। इंतजार बस इस बात का किया जा रहा है कि शासन की ओर से स्कूल खोलने के निर्देश मिले तो फिर इस परिसर में शिक्षण कार्य शुरू किया जा सके। ज्ञात हो कि ग्राम गोंगलई में कन्या शिक्षा परिसर इसीलिए प्रारंभ किया जा रहा है की जिले के आदिवासी छात्राओं को बेहतर शिक्षा उपलब्ध हो सके। इसी परिसर में छात्राओं को कक्षा छठवीं से बारहवीं तक अध्ययन के साथ ही उन्हें छात्रावास की सुविधा भी उपलब्ध हो जाएगी इसी परिसर में उन्हें सारी सुविधाएं मिलेगी।
वर्तमान में बनाया गया डेडीकेट कोविड सेंटर
हालांकि कोविड-19 की वजह से स्थान को डेडिकेट कोविड सेंटर के रूप में परिवर्तित कर दिया गया है और सामान्य लक्षण वाले मरीजों को यहां पर भर्ती किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि शासन के आदेश जैसे ही आएंगे उसके पश्चात स्कूल भवन को चयनित किया जाएगा और उसके पश्चात ही यहां पर कन्या शिक्षा परिसर का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।
स्कूल खोलने के आदेश का किया जा रहा है इंतजार – सुधांशु वर्मा
इसके संदर्भ में चर्चा करने पर आदिवासी कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त सुधांशु वर्मा ने बताया कि जैसे ही स्कूल खुलने के आदेश आएंगे इसकी प्रक्रिया करवाई जाएगी। कन्या शिक्षा परिसर बालाघाट की बिल्डिंग तो बन गई है शिक्षण संस्थाओं को खोलने के संबंध में जैसे ही शासन की गाइडलाइन आएगी यह कन्या शिक्षा परिसर खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी जाएगी। इस कन्या शिक्षा परिसर में हर कक्षा के लिए 60 सीट है, वर्तमान में यहां कोविड सेंटर है शिक्षण संस्थान खोलने के आदेश होते ही प्रयास किया जाएगा यह भवन हैंडओव्हर हो जाए।
मध्य प्रदेश विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन बालाघाट की हुई बैठक

बालाघाट (पद्मेश न्यूज़)। मध्य प्रदेश विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन के कर्मचारी प्रतिनिधि द्वारा बालाघाट प्रवास में पधारे प्रमुख अभियंता आरके स्थापक से संभागीय कार्यालय कक्ष में कार्यपालन अभियंता बालाघाट लक्ष्मण सिंह की उपस्थिति में मुख्य अभियंता का जिले के कर्मचारियों की ओर से अभिनंदन किया गया एवं कर्मचारियों की समस्याओं पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान मुख्य मुख्य अभियंता द्वारा अवगत कराया गया कि सभी अधिकारी कर्मचारी को कोविड-19 से बचाव हेतु मास्क सैनिटाइजर आदि प्रदान किया जाएगा। सेवानिवृत्ति की स्थिति में पीपीओ एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा, पेंशन के अतिरिक्त ग्रेच्युटी जीपीएफ एवं अन्य मदों की रुकी हुई राशि आने वाले महीनों में भुगतान कर दी जावेगी तथा तकनीकी एवं गैर तकनीकी कर्मचारी मास्क लगाकर कार्यालय एवं फील्ड में उपभोक्ताओं से दूरी बनाकर सैनिटाइजर का उपयोग करते हुए उपभोक्ताओं का कार्य करें। इस बैठक में प्रांतीय उपाध्यक्ष आईडी पटले, अध्यक्ष सहारु लाल मेश्राम, सचिव फेडरेशन एस सी खरे, उपाध्यक्ष यशवंत पिपलेवार एवं महिला प्रतिनिधि श्रीमती पंचशिला खोबरागड़े सहित पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here