पहले मासूम बच्चों का गला घोटा..फिर लगा ली फांसी

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज)। पत्नी के मायके से नहीं आने से व्यथित एक व्यक्ति ने अपने दो मासूम बच्चों की गला घोटकर हत्या करने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यह सनसनीखेज वारदात रूपझर थाने की सोनगुड्डा पुलिस चौकी क्षेत्र में आने वाले ग्राम चारघाट कच्छारटोला के जंगल में हुई। 12 सितंबर को सुबह ८ बजे करीब हुई इस वारदात की खबर फैलते ही इस क्षेत्र में सनसनी फैल गई । वही सूचना मिलते ही रुपझर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृतक अंतु उर्फ भूरा पिता धमलसिह पूसाम 27 वर्ष कि पेड़ पर फांसी पर लटकी लाश बरामद की वहीं उसी पेड़ के नीचे उसके दो मासूम बच्चे समीर पुसाम 6वर्ष और कैलाश पुसाम 4 वर्ष की लाश बरामद की। बता दे कि अंतू उर्फ भूरा ने अपने तीसरे बेटे आकाश 10 माह की भी हत्या का प्रयास किया किंतु वह मौत के मुंह में जाने से बच गया। जिसे जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अंतू उर्फ भूरा अपनी पत्नी कमला बाई के साथ खेती मजदूरी करता था जिसके परिवार में 3 बच्चे बच्चे हैं जिनमें समीर 6वर्ष कैलाश 4 वर्ष और आकाश 10 माह का है। यह भी बताया गया है कि अंतु शराब पीने का आदी है और शराब के नशे में अपनी पत्नी कमला से आए दिन विवाद करते रहता था ।इस विवाद के चलते अंतू उर्फ भूरा की पत्नी कमलाबाई अपने तीनों बच्चों को लेकर अपने मायके ग्राम सोनपुरी चली गई थी। पत्नी कमला के मायके जाने से अंतू अकेला रह गया था। औऱ वह परेशान रहता था। 10 सितम्बर को अंतु अपनी पत्नी को लाने अपने ससुराल सोनपुरी गया था किंतु पत्नी कमला के नहीं आने पर वह अपने दो बेटे समीर और कैलाश को लेकर अपने घर अँधेरीवन आ गया था। दूसरे दिन 11 सितंबर को भी अंतू अपने ससुराल सोनपुरी गया किंतु पत्नी के नहीं आने पर वह अपने 10 माह के बेटे आकाश को लेकर घर आ गया था। तीनों बच्चों को अंतु ने घर में रखा था।12 सितंबर को अंतु अपने तीनों बच्चों को लेकर कच्छारटोला चारधाट अपने भतीजे अंकित पूसाम के घर गया और तीनों बच्चों को भतीजे अंकित पूसाम के घर रख कर, अंतू पुन: अपनी पत्नी को लेने अपने ससुराल सोनपुरी गया था। किंतु उसकी पत्नी कमला ने अंतू के साथ आने मना कर दी थी इसी को लेकर दोनों पत्नी के बीच कुछ विवाद हुआ था। इस दौरान अंतू ने शराब पी हुई थी किंतु पत्नी के नहीं आने पर अंतू अपने भतीजे अंकेश के घर लौटा और अपने तीनों बच्चों को अपने साथ कच्छारटोला का पहाड़ी जंगल लेकर आया एक पेड़ के नीचे ले जाकर अंतु ने आवेश में आकर तीनों बच्चों का अपने हाथ से गला घोट दिया और वह समझा कि तीनों बच्चों की मौत हो गई। जिसके बाद अंतू ने उसी पेड़ में रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली ।बताया गया है कि अंतु द्वारा अंजाम दी गई इस घटना के कुछ घंटे बाद अंतू का भतीजा अंकेश पूसाम मवेशी चराते हुए उसी जगह पर गया था ।जिसने बच्चे की रोने की आवाज सुनी और वह बच्चे के रोने की आवाज की जगह पर पहुंचा जहां उसने अपने चाचा अंतू को पेड़ में फांसी पर लटका हुआ और नीचे दो बच्चों की मौत हो चुकी थी और बालक आकाश रो रहा था जो घायल हालत में था अंकित घायल बच्चे आकाश को लेकर तुरंत घर आया इस दौरान अंतू की पत्नी कमलाभी घर आ चुकी थी ।तब अंकित पूसाम अपनी चाची कमला बच्चे आकाश को लेकर 12 बजे करीब सोनूगुड्डा पुलिस चौकी पहुंचा और इस घटना के संबंध में जानकारी दी इस घटना की खबर फैलते ही इस क्षेत्र में सनसनी फैल गई और मौके पर लोगों का हुजूम लग गया जिला मुख्यालय से एफएसएल टीम के अलावा रुपझर सोंनगुड़ा के पुलिस अधिकारी चारघाट कछारटोला का जंगल घटना स्थल पहुंचे और मृतक अंतू उर्फ भूरा की फांसी पर लटकी लाश बरामद की वहीं उसी पेड़ के नीचे उसके दो बेटे समीर और कैलाश की लाश बरामद की और पोस्टमार्टम हेतु भिजवाए अभी पूर्ण रूप स्पष्ट नहीं हो पाया है कि अंतू ने इस वारदात किस वजह से अंजाम दिया किंतु अंतू द्वारा घरेलू विवाद के चलते और पत्नी के मायकेङ्क से नहीं आने से व्यथित होकर अपने दो बेटों की हत्या कर फांसी लगाकर आत्महत्या किए जाने की बात सामने आई है। आगे सोंनगुड़ा पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। घायल बालक आकाश को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here