पुलिस व स्वास्थ्य अमले के बगैर ही शिक्षक कर रहे थे चेकपोस्ट में ड्यूटी

0

लालबर्रा (पद्मेश न्यूज)। मुख्यालय से लगभग १२ किमी. दूर जिले की प्रवेश सीमा ग्राम पंचायत कंजई स्थित कंजईबेरियर चेकपोस्ट में कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु जिला प्रशासन द्वारा पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व शिक्षा विभाग के शिक्षकों की टीम तैनात कर आने-जाने वालों पर विशेष नजर रखी जा रही थी लेकिन लगभग विगत एक सप्ताह से चेकपोस्ट में तैनात पुलिसकर्मियों व स्वास्थ्य अमले को हटा दिया गया है जिसके बाद शिक्षकों के द्वारा रात्रि में अकेले ही डर के माहौल में शिफ्टवार ड्यूटी की जा रही थी जिसके संबंध में ड्यूटी कर रहे शिक्षकों के द्वारा आजाद अध्यापक संघ के पदाधिकारियों को अवगत करवाया गया जिसके पश्चात २३ सितंबर को शाम ६ बजे आजाद अध्यापक संघ लालबर्राके पदाधिकारियों व कोविड-१९ के तहत कंजईचेक पोस्ट में ड्यूटी कर रहे शिक्षकों के द्वारा जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरीशंकर डेहरिया से मुलाकात की गई एवं कंजईचेकपोस्ट में ड्यूटी के दौरान आ रही समस्याओं से अवगत करवाया गया जिस पर सीईओ श्री डेहरिया के द्वारा तत्काल वारासिवनी एसडीएम संदीप सिंह से दूरभाष पर चर्चा कर जानकारी दी गई जिसके पश्चात सीईओ ने चेकपोस्ट से शिक्षकों की ड्यूटी हटा दी है। पद्मेश से चर्चा में शिक्षकों ने बताया कि कोविड-१९ के तहत कंजईचेकपोस्ट में अलग-अलग शिफ्टों में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी साथ ही पुलिस प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगाई गई थी लेकिन विगत एक सप्ताह से चेकपोस्ट में पुलिसकर्मियों व स्वास्थ्य अमले की ड्यूटी हटा दी गई है जिसके पश्चात उन्हें अकेले ही डर के माहौल में ड्यूटी करना पड़ रहा था। आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिये जिला प्रशासन द्वारा महानगरों व दूसरे राज्यों से पहुंचने वाले लोगों पर नजर रखने के लिये जिले की प्रवेश सीमा कंजईचेकपोस्ट में पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्य विभाग व शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी जिनके द्वारा आने-जाने वालों की विशेष निगरानी की गई लेकिन एक सप्ताह से पुलिस व स्वास्थ्य अमले के बगैर ही शिक्षक निर्देशों का पालन करते हुए अपने समयानुसार चेकपोस्ट में ड्यूटी कर रहे थे, यदि शिक्षकों के द्वारा इस समस्या से अवगत नहीं करवाया जाता तो शायद अधिकारियों का ध्यान आकर्षित नहीं हो पाता। कंजईचेकपोस्ट से शिक्षकों की ड्यूटी हटाये जाने पर शिक्षकों ने सीईओ गौरीशंकर डेहरिया व प्रशासन का आभार जताया है।
रात की ड्यूटी में लग रहा था डर – टीकम

शिक्षक टीकम डहरवाल ने बताया कि कोविड १९ के तहत उनकी ड्यूटी कंजईचेकपोस्ट में लगी हुई है जहां वे गत ८ सितंबर से लगातार शाम ४ बजे से रात्रि १२ बजे तक ड्यूटी कर रहे है, तीन दिन पहले बाजू के मकान में चोरी हो गई जिससे वे डर गये और वहां कोई नहीं था, वे अकेले ही थे, उनके साथी शिक्षक श्री परते भी अपनी ड्यूटी करने के लिये अधियादार को साथ में लेकर आते है, चेकपोस्ट में ड्यूटी करने के दौरान उत्पन्न हो रही समस्या को लेकर उनके द्वारा सीईओ को अवगत करवाया गया जिस पर उन्होनें एसडीएम से चर्चा कर शिक्षकों की ड्यूटी हटाने के निर्देश दिये जिसके लिये वे सीईओ साहब का आभार व्यक्त करते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here