बड़ी खबरः युवराज सिंह ने बीसीसीआई को लिखा पत्र, मैदान पर लौटने को तैयार

0

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh( ने जब पिछले साल अचानक क्रिकेट को अलविदा कहा तो भारतीय फैंस काफी निराश हुए थे। ना कोई विदाई मैच और ना खेलते हुए रिटायरमेंट, बस एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। अब युवी के करोड़ों फैंस के लिए अच्छी खबर आई है। युवराज सिंह ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को पत्र लिखकर मैदान पर लौटने की इच्छा जताई है। वो अपने संन्यास के फैसले को पलटते हुए फिर से सक्रिय क्रिकेटर बनना चाहते हैं।

दरअसल, युवराज सिंह फिलहाल अपनी घरेलू क्रिकेट टीम – पंजाब क्रिकेट टीम – से जुड़ना चाहते हैं और घरेलू टूर्नामेंट की ट्रॉफी जीतना चाहते हैं। लॉकडाउन के दौरान युवराज सिंह ने आईपीएल के लिए जाने वाले पंजाब के क्रिकेटर्स- शुभमन गिल, अभिषेक शर्मा, प्रभसिमरन सिंह और अनमोलप्रीत सिंह के साथ मोहाली के पीसीए स्टेडियम में अभ्यास भी किया था। उसी दौरान जब युवी नेट्स पर बैटिंग करने उतरे तो उनको अहसास हुआ कि वो अब भी अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं।

पुनीत बाली ने दिया आइडिया

मोहाली में अभ्यास सत्रों के दौरान एक दिन पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (पीसीए) के सचिव पुनील बाली वहां युवराज सिंह के पास आए और उन्होंने युवी को रिटायरमेंट खत्म करके पंजाब के लिए खेलने का सुझाव दिया। युवी ने कहा कि ये उनके लिए आसान फैसला नहीं था लेकिन उन्होंने इस प्रस्ताव को इसलिए माना क्योंकि वो घरेलू क्रिकेट में पंजाब के लिए खिताब जीतना चाहते हैं।

युवराज का बयान, बताई बड़ी वजह

युवराज सिंह ने क्रिकबज से बातचीत के दौरान कहा, ‘शुुरुआत में मुझे अंदाजा नहीं था कि मुझे ये ऑफर लेना है या नहीं। मैं घरेलू क्रिकेट में खेलना बंद कर चुका था लेकिन मैं दुनिया भर में होने वाली घरेलू फ्रेंचाइजी-लीग में खेलना चाहता था अगर बीसीसीआई इजाजत दे। लेकिन मैं मिस्टर बाली की गुजारिश को नजरअंदाज नहीं कर सकता। मैं तीन-चार हफ्ते तक इस बारे में सोचा। इसके पीछे का इरादा है पंजाब के लिए खिताब जीतना। भज्जी और मैंने कई खिताब जीते हैं लेकिन हमने ये कभी भी पंजाब के लिए साथ नहीं किया। ये मेरे फैसले के पीछे की बड़ी वजह थी।’

बीसीसीआई को पत्र लिखने की पुष्टि

युवराज सिंह ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को पत्र लिखा है। अगर उनको इसकी इजाजत दे दी गई तो फिर वो विदेश की किसी टी20 लीग में नहीं खेल पाएंगे जैसे पिछले साल वो टी-10 क्रिकेट लीग और कनाडा में एक लीग खेले थे। युवराज ने कहा, ‘फिलहाल स्थिति ये है कि अगर इजाजत मिली तो मैं सिर्फ टी20 क्रिकेट खेलूंगा। लेकिन क्या पता.. देखते हैं।’ युवी ने अपनी अंतिम लाइन से ये साफ कर दिया है कि अगर टी20 में अच्छा खेले तो वो आगे अन्य प्रारूप के बारे में भी सोच सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here