बाढ़ पीडि़तो΄ को मुआवजा देने से शासन का इ΄कार

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज)। बीते 2 वर्ष से लगातार में वैनगंगा में बाढ़ की वजह से जिले के 110 गांव के साथ-साथ जिला मुख्यालय से लगी हुई कुम्हारी के माताटोली में भी बाढ़ तबाही मचा रही है। जिस कारण 2 दर्जन से अधिक लोग प्रभावित हो रहे हैं। लेकिन शासन है कि लगातार इन्हें बाढ़ प्रभावित ना मानते हुए मुआवजा देने से इंकार कर रहा है। बीते वर्ष आई बाढ़ में प्रभावितों का सर्वे हुआ था लेकिन अब तक उन्हें मुआवजा नहीं मिला, इस वर्ष तो बाढ़ प्रभावित का तो सर्वे भी नहीं किया गया। इस कारण इस स्थान पर रहने वाले लोगों में बहुत अधिक निराश हो गए हैं।
नही΄ किया गया सर्वे कार्य
बाढ़ प्रभावितों को मुआवजा दिए जाने को लेकर प्रशासनिक तौर पर जो सर्वे कार्य किया गया है उसमें माता टोली के क्षेत्र को छोड़ दिया गया है और ऐसा माना जा रहा है कि इस क्षेत्र को घास बीट की जमीन करार दिया गया जिसके कारण इस क्षेत्र में बाढ़ प्रभावितों को मुआवजा सरकारी तौर पर नहीं मिल पाएगा जिसके कारण ग्रामीण जन काफी मायूस हैं इस संदर्भ में रमसुला बाई ने बताया कि बाढ़ में काफी नुकसान हुआ है लेकिन जिस क्षेत्र में वह रह रहे हैं उसे घास बीट का बताकर सर्वे नहीं किया गया शासन के द्वारा जो और राशन दिया गया था उसी से काम चला रहे हैं पेंशन भी नहीं मिल रही है
प΄चायत प्रतिनिधि मुआवजे को लेकर नही΄ दे रहे ध्यान- गीताबाई
ग्रामीण महिला गीता बाई जंघेले ने बताया कि तेरी के क्षेत्र में सर्वे कार्य कराया गया है जहां पर रहने वाले लोगों को मुआवजा मिल रहा है वहां के सरपंच के द्वारा इस क्षेत्र को आबादी घोषित करते हुए वहां आवास बना दिया गया है जिसके कारण वहां के लोगों को मुआवजा मिलेगा लेकिन हमारे क्षेत्र मैं रहने वाले को मुआवजा नहीं दिया जा रहा है जो कि गलत है
मुआवजे के नाम पर दिया जाता है आश्वासन- जवाहरलाल
इस संदर्भ में जवाहरलाल ने बताया कि हमेशा जब बाढ़ आती है तो कहा जाता है कि उन्हें जमीन देंगे और मकान बना कर देंगे लेकिन केवल अब तक आश्वासन ही दिया गया है जिसके कारण काफी समस्या आ रही है। जैसे तैसे हम झोपड़ी बनाकर गुजर-बसर कर रहे हैं लेकिन कई साल बीत जाने के बाद भी मुआवजा शासन स्तर पर नहीं मिल पाया है जबकि दूसरी पंचायतों में सरपंच के द्वारा आवास योजना के तहत ग्रामीणों को लाभ दिया जा रहा है लेकिन यहां ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है।
तो ग्रामीणो΄ को मुआवजा देने मे΄ यो΄ आ रही दिक्कत- राजा लिल्हारे
इस संदर्भ में जनप्रतिनिधि राजा लिल्हारे ने कहा कि कुम्हारी क्षेत्र बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में शुमार है यहां के लोगों को बाढ़ की वजह से काफी क्षति पहुंची है प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए उन्होंने कहा कि रोशना में मुर्गी पालकों को जब मुआवजा दिया जा सकता है तो ग्रामीणों को मुआवजा क्यों नहीं दिया जा सकता ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here