बेरोजगार युवाओं और ग्रामीणों का फूटा गुस्सा

0

लालबर्रा (पद्मेश न्यूज)। मुख्यालय से लगभग ६ किमी. दूर स्थित ग्राम पंचायत घोटी में बेरोजगार युवकों व ग्रामीणजनों का सरपंच-सचिव के प्रति आक्रोश बढ़ता जा रहा है, २९ सितंबर को प्रात: ११ बजे बेरोजगार युवाओं व ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत कार्यालय घोटी का घेराव कर दिया एवं आक्रोशित ग्रामीणों के द्वारा हंगामा करते हुए ग्राम पंचायत में १५ सालों से पदस्थ पंचायत मेटों को हटाकर ग्राम के योग्यताधारी बेरोजगार युवकों को पंचायत मेट के पद पर नियुक्त किये जाने की मांग की गई। ग्राम पंचायत कार्यालय में एकजुट हुए ग्रामीणों की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पद्मेश की टीम ने पाया कि ग्राम पंचायत भवन में भारी संख्या में ग्रामीणजनों व युवाओं की भीड़ जमा थी जो ग्राम पंचायत की कार्यप्रणाली को लेकर काफी आक्रोशित नजर आ रहे थे वहीं ग्राम पंचायत भवन में मौजूद सचिव लक्ष्मीप्रसाद सोनवाने व उपसरपंच श्रीमती हेमलता गौतम के द्वारा ग्रामीणों के आक्रोश को शांत करवाने के लिये समझाईश देने का प्रयास किया गया लेकिन ग्रामीणों के द्वारा आक्रोश व्यक्त करते हुए सरपंच-सचिव पर शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिलने, अपनी मनमर्जी से मनमाने ढंग से कार्य कर चहितों को लाभ पहुंचाने एवं बेरोजगार पढ़े-लिखे लोगों को गुमराह किये जाने का आरोप लगाया गया, इस दौरान काफी समय तक आक्रोशित बेरोजगार युवकों व ग्रामीणजनों के द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया जिसके बाद ग्राम सरपंच व सचिव के नाम आवेदन तैयार कर १५ सालों से पदस्थ पंचायत मेटों को हटाकर नये मेटों की नियुक्ति किये जाने की मांग की गई तथा चेतावनी दी गई कि जल्द से जल्द कार्यवाही नहीं की गई तो वृहद स्तर पर उग्र आंदोलन किया जायेगा। पद्मेश से चर्चा में ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत घोटी में विगत १५ सालों से निरंतर कुछ लोग मेट बनकर कार्य कर रहे है उसके बाद भी उन्हें ही नियुक्त किया जा रहा है जिसकी वजह से अन्य बेरोजगार युवाओं को अवसर नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण ग्रामीणजनों में आक्रोश का माहौल व्याप्त हो गया है, समस्त ग्रामीणजनों की मांग है कि पुराने मेटों की जगह नये मेटों की नियुक्ति जाये अन्यथा ग्रामीणजनों के द्वारा बड़े स्तर पर उग्र आंदोलन किया जायेगा। ग्रामीणों व बेरोजगार युवाओं के द्वारा आक्रोश व्यक्त कर उपसरपंच श्रीमती हेमलता गौतम को मांगपत्र सौंपा गया है। इस दौरान पवन लानगे, त्रिकेश मानेश्वर, प्रकाश लानगे, सुरेश बागड़े, चन्द्रेश बोरकर, अर्पित गेडाम, तरूण लानगे, कमलेश बोरकर, मुकेश सार्वे, निलेश, डुलेन्द्र बोरकर, अनिल सार्वे, प्रभुदयाल ठौकर, गोपाल बोरकर, प्रकाश सार्वे, अकलेश आश्वले, अमित नेवारे, रविन्द्र बोरकर, अशोक पंचेश्वर, प्रवीण बांते, शुभम बोरकर, मोहित शेंडे, कमलेश अंगूरे, धनेन्द्र कुमार अंगूरे, अंकित लानगे, मुकेश चौधरी, युवराज देशमुख, सीताराम गजबे, रामकुमार बोमचेर, संजय बांते, लालचंद, टेकराम जर्वेकर व ओमकार सहित अन्य ग्रामीणजन मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here