बैल बाजार के व्यापारियों ने लगाया अवैध वसूली का आरोप

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज़)। बीते दिनों जिले के रामपायली थाना अंतर्गत 50 मवेशी खेती में काम करने योग्य बैल को यह कहकर जब्त किया गया था कि उन्हें कत्लखाने भेजा जा रहा है। इस पूरी कार्यवाही पर बरघाट से पहुंचे बैल बाजार के व्यापारियों ने बड़ा सवाल और आरोप लगाया है उनके अनुसार मवेशियों की खरीदी बिक्री करने वाले कृषक से बालाघाट जिले के भीतर बजरंग दल के लोग अवैध वसूली करते हैं पैसा नहीं देने पर मवेशियों को कत्लखाने ले जाने का आरोप लगाकर कार्यवाही करवा देते हैं। किसान और मवेशी खरीदी बिक्री करने वाले लोगों के सामने जो समस्या खड़ी हो रही है उसे देखते हुए किसान और व्यापारी आज शाम को एसपी कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने एसपी को शिकायत करते हुए उन्हें अनावश्यक रूप से जो परेशान किया जा रहा है उस पर कार्यवाही किए जाने की मांग की। साथ ही यह व्यवस्था बनाए जाने की मांग की गई कि वे लोग मवेशी बाजार के माध्यम से कृषि कार्य योग्य बैलों को ले जा सके।
कृषकों ने बताई परेशानी

एसपी कार्यालय पहुंचे लालबर्रा क्षेत्र के ग्राम पलाकामथी निवासी सुरेश पटेल ने बताया कि किसानों का व्यवसाय खेती करना और मवेशी पालन करना है। जिले में बड़े-बड़े मवेशी बाजार है लालबर्रा बालाघाट मलाजखंड आदि मवेशी बाजार की अनुमति दी जानी चाहिए ताकि किसान उन मवेशी बाजार में अपने मवेशियों को सुरक्षित रूप से ला सकें। वहीं पर व्यापारियों ने की नगर पालिका घाट से पहुंचे व्यापारी चैन सिंह साहू ने बताया कि व्यापारी मवेशी बाजार में किसानी के बैल लेकर गए थे, बाजार से बालों को ले जाया जा रहा था उसी दौरान रास्ते में रामपायली के पास कुछ लोगों ने रोक कर पैसे मांगे, पैसे नहीं देने पर मवेशियों को थाने में ले जाकर कार्यवाही कराया गया। जहां तक रसीद की बात है तो मवेशियों के संबंध में पूछताछ करते हुए मवेशी खरीदी की रसीद को उन लोगों द्वारा पकड़ लिया जाता है। किसान बहुत परेशान है अधिकारियों द्वारा इस पर लगाम लगाया जाना चाहिए अगर कत्लखाने मवेशियों को ले जाए जाता है तो उस पर कार्यवाही हो लेकिन कृषि योग्य मवेशियों को लेकर जो अनावश्यक रूप से कार्यवाही की जाती है और कुछ तत्वों द्वारा रास्ते में अनावश्यक रूप से जो परेशान किया जाता है उन पर कार्यवाही की जाए यही जिला प्रशासन से मांग है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here