महाविद्यालय की परीक्षा शुरू

0

वारासिवनी (पद्मेश न्यूज)। कोरोना वैश्यिक महामारी के चलते महाविद्यालय की परीक्षा अटक गई थी उक्त परीक्षा अब शासन के निर्देशानुसार ओपन बुक के माध्यम से ली जा रही है। महाविद्यायलयीन परीक्षा के लिए रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय एवं छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय के परीक्षा समय सारणी के अनुसार संपन्न होगी जिसमें छिन्दवाड़ा विश्वविद्यालय की परीक्षा के लिए ८ सितंबर एवं रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की परीक्षा के लिए १० सितंबर को वेबसाईट पर प्रश्रपत्र आ गया है। परीक्षार्थियों के द्वारा वेबसाईट से प्रश्रपत्र अपलोड़ कर ओपन बुक के माध्यम से उत्तरपुस्तिका में उत्तर लिखकर विश्वविद्यालय छिंदवाड़ा के परीक्षार्थी १५ सितंबर एवं रानी दुर्गावती विश्व विद्यालय के परीक्षार्थी १६ सितंबर तक वारासिवनी क्षेत्र मे बनाये गये ४ संग्रहण केन्द्रों में जमा करेगें।
कोरोना काल में अटकी परीक्षा हुई शुरू
उच्च शिक्षा विभाग के आदेशानुसार वर्ष २०१९-२०२० स्नातक अंतिम वर्ष, स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर एवं स्वाध्यायी स्नातक अंतिम वर्ष, स्नातकोत्तर उत्तरार्थ की समस्त परीक्षा रानी दुर्गावती एवं छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय के स्नातक, स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष की परीक्षा ओपन बुक प्रणाली से संपन्न करवाई जायेगी ताकि परीक्षार्थी कोरोना महामारी के चलते अपने घरों में पर्चा हल कर सके। उच्च शिक्षा विभाग के द्वारा रानी दुर्गावती विश्व विद्यालय पाठ्यक्रम के स्नातक/स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष एवं छिन्दवाड़ा विश्व विद्यालय के स्नातक/स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष की परीक्षा ओपन बुक प्रणाली के माध्यम से ली जा रही है। शासन के निर्देश है कि जनरल प्रमोशन नही दे सकते है इसलिए ओपन बुक प्रणाली से परीक्षा ली जा रही है जिसमें स्नातक अंतिम वर्ष में बीए, बीएससी, बीकॉम एवं स्नातकोत्तर अंतिम सेमेस्टर की एमए, एमएससी, एमकॉम, बीएड साइंस, एलएलबी की परीक्षा १४ सितंबर तक ओपन बुक प्रणाली से परीक्षार्थी अपने-अपने विषय का पर्चा हल करेगें और छिन्दवाड़ा विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १५ सितंबर एवं रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १६ सितंबर तक बनाये गये संग्रहण केन्द्र में जमा करेगें।
जनरल प्रमोशन नहीं होगा

कोरोना वैश्यिक महामारी को देखते हुए महाविद्यालय के समस्त कक्षाओं के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन कर देने की बात शासन के द्वारा कही गई थी लेकिन बाद में उक्त आदेश को निरस्त कर दिया गया जिसमें सामने आया कि महाविद्यालय के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन नही दे सकते उनकी परीक्षा लेना अनिवार्य है। जिसके बाद उच्च शिक्षा विभाग के आदेशानुसार ओपन बुक प्रणाली से स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षा १० सितंबर से १६ सितंबर के बीच संपन्न करवाई जा रही है और परीक्षार्थी अपने घरों में ऑनलाईन प्रश्रपत्र वेबसाईट से अपलोड़ कर पर्चा हल करेगें साथ ही स्नातक, स्नातकोत्तर की अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं भी सीआर के माध्यम से संपन्न करवाई जायेगी। इस ओपन बुक प्रणाली से परीक्षार्थियों को सरलता से उत्तीर्ण होने का अवसर मिल जायेगा क्योंकि ओपन बुक के माध्यम से पर्चा हल करना है यानि प्रश्र का उत्तर बुक से देख-देख कर लिखना पड़ेगा जिससे मेहनत करने वाले परीक्षार्थियों का मनोबल घटेगा क्योंकि जो मेहनत कर पढ़ाई करता है एवं जो ओपन बुक से पर्चा हल करेगा सभी के अंक सामान रूप से आयेगे यानि अंकों में कुछ ही अंतर रहेगा जिससे सभी विद्यार्थियों का स्नातक, स्नातकोत्तर के प्रतिशत सामान रहेगें।
४ संग्रहण केन्द्र में जमा करेगें उत्तर पुस्तिका
वारासिवनी जनपद पंचायत क्षेत्र के महाविद्यालय में स्नातक , स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा ओपन बुक से हो रही है। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर एवं छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय की आयोजित ओपन बुक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए ४ संग्रहण केन्द्र बनाये गये है जिसमें शासकीय शंकरसाव पटेल कला, वाणिज्य एवं विधि महाविद्यालय वारासिवनी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मेंढकी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामपायली, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुदबुदा में छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १५ सितंबर एवं रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १६ सितंबर तक उक्त संग्रहण केन्द्रों में अपनी उत्तरपुस्तिका जमा कर सकते है।
स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षा शुरू – डॉ. सरिता कोल्हेकर
पदमेश से चर्चा में शासकीय शंकरसाव पटेल कला, वाणिज्य एवं विधि महाविद्यालय वारासिवनी प्राचार्या डॉ. सरिता कोल्हेकर ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते उच्च शिक्षा विभाग के आदेशानुसार स्नातक, स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा १० सितंबर से ओपन बुक प्रणाली से शुरू हो गई है जिसके लिए छिन्दवाड़ा विश्वविद्यालय के स्नातक/स्नातकोत्तर की प्रथम वर्ष के लिए ८ सितंबर को प्रवेश पत्र व प्रश्रपत्र अपलोड हो गये है। डॉ. कोल्हेकर ने बताया कि इस परीक्षा में स्वाध्यायी के ५०० और नियमित के १८०० परीक्षार्थी शामिल होगें जिनके द्वारा ओपन बुक प्रणाली से पर्चा हल कर १५, १६ सितंबर तक वारासिवनी क्षेत्र में बनाये गये ४ संग्रहण केन्द्र में जमा करेगें उसके बाद कापियां पीजी कालेज में भेजी जायेगी एवं अक्टूबर माह तक रिजल्ट आ जायेगा।

कोरोना वैश्यिक महामारी को देखते हुए महाविद्यालय के समस्त कक्षाओं के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन कर देने की बात शासन के द्वारा कही गई थी लेकिन बाद में उक्त आदेश को निरस्त कर दिया गया जिसमें सामने आया कि महाविद्यालय के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन नही दे सकते उनकी परीक्षा लेना अनिवार्य है। जिसके बाद उच्च शिक्षा विभाग के आदेशानुसार ओपन बुक प्रणाली से स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षा १० सितंबर से १६ सितंबर के बीच संपन्न करवाई जा रही है और परीक्षार्थी अपने घरों में ऑनलाईन प्रश्रपत्र वेबसाईट से अपलोड़ कर पर्चा हल करेगें साथ ही स्नातक, स्नातकोत्तर की अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं भी सीआर के माध्यम से संपन्न करवाई जायेगी। इस ओपन बुक प्रणाली से परीक्षार्थियों को सरलता से उत्तीर्ण होने का अवसर मिल जायेगा क्योंकि ओपन बुक के माध्यम से पर्चा हल करना है यानि प्रश्र का उत्तर बुक से देख-देख कर लिखना पड़ेगा जिससे मेहनत करने वाले परीक्षार्थियों का मनोबल घटेगा क्योंकि जो मेहनत कर पढ़ाई करता है एवं जो ओपन बुक से पर्चा हल करेगा सभी के अंक सामान रूप से आयेगे यानि अंकों में कुछ ही अंतर रहेगा जिससे सभी विद्यार्थियों का स्नातक, स्नातकोत्तर के प्रतिशत सामान रहेगें।
४ संग्रहण केन्द्र में जमा करेगें उत्तर पुस्तिका
वारासिवनी जनपद पंचायत क्षेत्र के महाविद्यालय में स्नातक , स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा ओपन बुक से हो रही है। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर एवं छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय की आयोजित ओपन बुक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों के उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए ४ संग्रहण केन्द्र बनाये गये है जिसमें शासकीय शंकरसाव पटेल कला, वाणिज्य एवं विधि महाविद्यालय वारासिवनी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मेंढकी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रामपायली, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुदबुदा में छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १५ सितंबर एवं रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के परीक्षार्थी १६ सितंबर तक उक्त संग्रहण केन्द्रों में अपनी उत्तरपुस्तिका जमा कर सकते है।
स्नातक, स्नातकोत्तर की परीक्षा शुरू – डॉ. सरिता कोल्हेकर
पदमेश से चर्चा में शासकीय शंकरसाव पटेल कला, वाणिज्य एवं विधि महाविद्यालय वारासिवनी प्राचार्या डॉ. सरिता कोल्हेकर ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते उच्च शिक्षा विभाग के आदेशानुसार स्नातक, स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा १० सितंबर से ओपन बुक प्रणाली से शुरू हो गई है जिसके लिए छिन्दवाड़ा विश्वविद्यालय के स्नातक/स्नातकोत्तर की प्रथम वर्ष के लिए ८ सितंबर को प्रवेश पत्र व प्रश्रपत्र अपलोड हो गये है। डॉ. कोल्हेकर ने बताया कि इस परीक्षा में स्वाध्यायी के ५०० और नियमित के १८०० परीक्षार्थी शामिल होगें जिनके द्वारा ओपन बुक प्रणाली से पर्चा हल कर १५, १६ सितंबर तक वारासिवनी क्षेत्र में बनाये गये ४ संग्रहण केन्द्र में जमा करेगें उसके बाद कापियां पीजी कालेज में भेजी जायेगी एवं अक्टूबर माह तक रिजल्ट आ जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here