‘मोहम्‍मद सिराज ने टेस्‍ट डेब्‍यू करके हमारे स्‍वर्गीय पिता का सपना पूरा किया’

0

हैदराबाद:  तेज गेंदबाज मोहम्‍मद सिराज पिछले महीने अपने पिता के जनाजे में शामिल नहीं हुए थे क्‍योंकि वह राष्‍ट्रीय टीम के साथ ऑस्‍ट्रेलिया में थे। सिराज के परिवार ने कहा कि ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टेस्‍ट में डेब्‍यू करके तेज गेंदबाज ने अपने पिता को गर्व महसूस कराया है। 26 साल के तेज गेंदबाज के पिता मोहम्‍मद गउस ने 20 नवंबर को अंतिम सांस ली थी। वह एक ऑटो-रिक्‍शॉ चालक थे। सिराज को तब ऑस्‍ट्रेलिया में भारतीय टीम के साथ पहुंचे हुए एक सप्‍ताह हुआ था। सिराज कोविड-19 प्रोटोकॉल के कारण घर नहीं लौटे।

उनके भाई इस्‍माइल ने कहा कि स्‍वर्गीय पिता का सपना था कि सिराज को देश के लिए टेस्‍ट खेलते देखें और शनिवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर यह सपना पूरा हुआ। इस्‍माइल ने हैदराबाद से पीटीआई से बातचीत करते हुए कहा, ‘मेरे दिवंगत पिता का सपना था कि मोहम्‍मद सिराज को टेस्‍ट में भारत का प्रतिनिधित्‍व करते देखें। वह हमेशा सिराज को नीली और सफेद जर्सी में देश का प्रतिनिधित्‍व करते हुए देखना चाहते थे। तो हमारा सपना पूरा हो गया है।’

इंतजार बढ़ते जा रहा था…

मोहम्‍मद सिराज के परिवार वाले सुबह 4 बजे से टीवी के सामने चिपक गए थे कि बेटे को टेस्‍ट में देश का प्रतिनिधित्‍व करते हुए देखा, जो उनके लिए भी गर्व का पल है। सिराज पहले ही एक वनडे और तीन टी20 इंटरनेशनल मैच में भारत के लिए खेल चुके हैं। सॉफ्टवेयर पेशे से अब भाई के मैनेजर बने इस्‍माइल ने कहा, ‘टीम एक दिन पहले ही घोषित कर दी गई थी। हमें पता था कि सिराज डेब्‍यू करने जा रहा है। हम पूरी रात नहीं सोए। हम सुबह 4 बजे से टीवी से चिपक गए।’ जब सिराज को पहले सेशन में गेंदबाजी का मौका नहीं मिला, तो घर वालों के क्‍या विचार थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here