विधानसभा अध्यक्ष की दौड़ में कई दिग्गज, विंध्य का पलड़ा भारी

0

भारतीय जनता पार्टी की शिवराजसिंह चौहान सरकार में मध्य प्रदेश विधानसभा का अध्यक्ष कौन होगा, इस बात को लेकर पार्टी में मंथन शुरू हो गया है। फिलहाल पार्टी में जिन नामों को लेकर गंभीरता से विचार चल रहा है, उनमें विंध्य क्षेत्र का पलड़ा भारी है।

शिवराज कैबिनेट में विंध्य को सम्माजनक स्थिति नहीं मिल पाने के कारण गिरीश गौतम, केदार शुक्ला, राजेंद्र शुक्ल सहित कुछ अन्य के नाम स्पीकर की दौड़ में आगे हैं। पूर्व मंत्री अजय विश्नोई और यशपाल सिंह सिसौदिया सहित पूर्व अध्यक्ष सीतासरन शर्मा के नाम को भी संगठन ने विचार में लिया है।

प्रोटेम स्पीकर रहे जगदीश देवड़ा भी पहले दौड़ में थे, लेकिन शिवराज कैबिनेट में देवड़ा को मंत्री बनाए जाने के बाद अब अनुसूचित जाति वर्ग से दावेदारी खत्म हो गई है। भाजपा 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में भी विजयी रही है। ऐसे हालात में अब भौगोलिक आधार पर राजनीतिक संतुलन बनाना भी पार्टी में अहम हो गया है।

मालूम हो, अभी विधानसभा में सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) रामेश्वर शर्मा हैं। इधर, विंध्य की सियासत में ब्राह्मण और ठाकुरों का संतुलन बनाए रखने के लिए नागेंद्र सिंह नागौद के नाम पर भी विचार किया जा रहा है। विंध्य में लंबे समय से राजेंद्र शुक्ल ही सत्ता के एकमात्र केंद्र रहे हैं।

शुक्ल के विरोध को देखकर ही भाजपा नेतृत्व ने नागेंद्र सिंह नागौद का नाम स्पीकर के दावेदारों की सूची में रखा है। नागौद पहले शिवराज सरकार में मंत्री रह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में वे खजुराहो सीट से सांसद भी रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here