वैनगंगा नदी के गायखुरी घाट से एक व्यक्ति की लाश बरामद

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज़)। मंगलवार की सुबह गायखुरी पटवारी प्रशिक्षण केंद्र के पीछे वैनगंगा नदी घाट पर एक अधेड़़ व्यक्ति का शव पुलिस ने बरामद किया है जिसकी पहचान लालबर्रा अतरी वार्ड नंबर 9 निवासी 50 वर्षीय हेमंत पिता जुगल किशोर खरे के रूप में की गई है जिसके शव का पोस्टमार्टम कराकर शव उनके परिजनों के सुपुर्द किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 8 सितम्बर को 100 डायल को सुचना मिली कि ग्राम गाय़ुखुरी चिमनीटोला मे पटवारी प्रशिक्षण शाला के पीछे बैनगंगा नदी में एक अज्ञात व्यक्ति का शव नदी के पानी मे उतराते दिख रहा है। सुचना पर 100 डायल के कर्मचारी द्वारा थाने मे सुचना दिये जाने पर मौके पर पुलिस बल पहुंचा व्यक्ति को नदी के पानी से निकाल कर स्थानीय स्तर पर शिनाख्तगी पहचान कराने का प्रयास किया गया। किंतु उक्त व्यक्ति के संबंध मे कोई जानकारी नही मिल पायी ।जिसकी शव पंचनामा कार्यवाही के दौरान पहने हुए लोअर मे से पर्स निकला जिसमे आधार कार्ड प्राप्त हुआ जिसमे हेमंत खरे पिता जुगलकिशोर खरे ग्राम अतरी घोटी होना पाया गया था जिसके आधार पर थाना रामपायली,व लालबर्रा से संपर्क किये जाने पर मृतक के परिजनों की जानकारी ली गई । शव की शिनाख्तगी राकेश पिता जुगलकिशोर खरे के द्वारा अपने बडे भाई हेमंत खरे के रुप मे की गयी है। शव पंचनामा कार्यवाही उपरांत शव का पोस्टमार्टम जिला अस्पताल बालाघाट में करवाकर अंतिम संस्कार हेतु परिजनों को सुपुर्द किया गया है।,मर्ग प्रकरण दर्ज कर जांच मे लिया गया है ।
2 माह पूर्व घर से राजनंदगांव जाने के लिए निकला था हेमंत- राकेश खरे
इस पूरे मामले के संदर्भ में की गई चर्चा के दौरान मृतक के परिजन राकेश खरे ने बताया कि मृतक 17 वर्ष की उम्र से ही घर से भाग गया था जो वर्ष 2015 में पुन: अपने घर वापस आ गया था जो छत्तीसगढ़ राजनांदगांव स्थित अलग-अलग होटलों में काम किया करता था इसी दरमियान वर्ष 2015 से वह लालबर्रा खतरी अपने घर आता जाता रहता था पूर्व में जब टोटल लॉकडाउन घोषित किया गया था उस समय हेमंत अपने घर अतरी आया था जो 2 माह पूर्व साइकिल से राजनांदगांव के लिए निकला था जिसका शव मंगलवार को वैनगंगा नदी घाट से बरामद किया गया है उन्होंने आगे बताया कि मृतक अविवाहित था जो बहुत कम समय के लिए गांव आता था मृतक के जेब से मिले आधार कार्ड के अनुसार मृतक की पहचान हेमंत खरे के रूप में की और आधार कार्ड लिखे हुए पते के आधार पर पुलिस ने हमसे संपर्क कर शव अंतिम संस्कार के लिए हमें दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here