शासकीय भूमि मे΄ मिला हजारो΄ ट्रिप रेत का डम्प

0

लांजी (पद्मेश न्यूज)। वर्तमान में रेत कारोबारी अपनी मर्जी से धड़ल्ले से अवैध रेत निकाल कर बेच रहे हैं वे जहां भी नदी में रेत दिखी, वहीं से नदी के तट को काटकर रैम्म बनाकर रेत निकाली जा रही है। चाहे फिर रेत खदान स्वीकृत हो या नहीं। बल्कि स्वीकृत खदान की सीमा के बाहर से अवैध रूप से शासन के नियमों का उल्लंघन कर हजारों ट्रिप रेत बिना डम्प की परमिशन के नदी से निकालकर शासकीय भूमि में डंप की जा रही है। क्षेत्र के ग्राम परसोड़ी के बाघ नदी रेतघाट से भारी मात्रा में अवैध रूप से रेत का उत्खनन किया जाकर नदी किनारे शासकीय भूमि पर अवैध रूप से डम्प की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम परसोड़ी में रेत घाट स्वीकृत हैं जिसका 12 एकड़ का रकबा है। यहां से ठेकेदार को रेत की निकासी के लिए शासन के द्वारा नियमानुसार उत्खनन करने के लिए खदान लीज पर दिया गया है, जहां से ठेकेदार को सीमा के भीतर रेत खदान से रेत की निकासी करना है। किन्तु ठेकेदार द्वारा वर्तमान में स्वीकृत रेत खदान से रेत का उत्खनन ना कर सीमा के बाहर से लगभग 4 हजार ट्रेक्टर ट्राली से अधिक रेत बिना रायल्टी काटे निकालकर नदी के किनारे शासकीय भूमि पर डम्प किया गया । यह भी बताया जा रहा है कि यहां रेत डम्प किये जाने की स्वीकृति भी नही ली गई है। इस तरह भारी मात्रा में शासकीय भूमि पर बिना रायल्टी के डम्प हो रही रेत के संबंध में अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व रविन्द्र परमार को शिकायत होने पर 14 अक्टूबर को उनके द्वारा मौके पर निरीक्षण करने ग्राम पसोड़ी पहुंचे। किन्तु मार्ग में निर्माण कार्य होने के चलते उनका वाहन आगे नही जा सका एवं उन्हे बिना निरीक्षण किये वापस होना पड़ा।
राजस्व निरीक्षक एवं पटवारी द्वारा किया गया सीमांकन
परसोड़ी रेत घाट से अवैध उत्खनन एवं डम्प के संबंध में शिकायत होने पर एसडीएम रविन्द्र परमार द्वारा राजस्व निरीक्षक एवं पटवारी को सीमांकन कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने कहा गया। जिस पर 14 अक्टूबर को राजस्व निरीक्षक एवं पटवारी द्वारा मौके पर पहुंचकर सीमांकन किया गया। पटवारी से पुछे जाने पर बताया कि यहां स्वीकृत रेत खदान की सीमा में पत्थर लगे हुये है। वर्तमान में जहां से रेत निकासी हो रही है स्वीकृत खदान से अलग है।
जांच प्रतिवेदन के अधार पर होगी जप्ती कार्यवाही – रविन्द्र परमार
इस संबंध में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रविंद्र परमार के द्वारा कहा गया कि पिछले रविवार को आम जनता के माध्यम से जो शिकायत आई थी कि परसोडी रेत खदान में रेत निकालने के लिए जितने हेक्टेयर की जगह सीमांकित की गई थी उसकी सीमा के बाहर से रेत निकाला जा रहा है और रेत को दूसरी जगह डंप किया जा रहा है। इस संबंध में 13 अक्टूबर को माइनिंग इंस्पेक्टर के द्वारा उक्त जगह का निरीक्षण किया गया है जिनसे प्रतिवेदन लिया जा रहा है। इसके साथ ही 14 अक्टूबर को भी आरआई एवं पटवारी के द्वारा क्षेत्र का निरीक्षण किया गया है जिनके द्वारा जितनी हेक्टेयर रेत स्वीकृत खदान है उसे सीमांकित किया गया है, और उनसे प्रतिवेदन लिया गया है कि जो रेत डंप की गई है उक्त रेत घाट के बाहर की है या नहीं। जैसा वह प्रतिवेदन देंगे उसके अनुसार रेत को जप्त कर के कार्यवाही की जाएगी। श्री परमार ने यह भी कहा कि जो शिकायतें आई है जिसमें जहां से रेत खदान स्वीकृत नहीं है वहां से भी रेत निकाली जा रही है जिसमे पौनी एवं सर्रा घाट है। इस संबंध में संबंधित पुलिस विभाग, राजस्व विभाग व माइनिंग विभाग के द्वारा मौका निरीक्षण किया जाएगा अगर इस दौरान अगर कोई वाहन अवैध उत्खनन एवं परिवहन में शामिल मिलता है तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here