‘संबल’ पोर्टल नहीं खुलने से मजदूर हो रहे हैं परेशान

0

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मजूदरों के हित के लिए चलाई गई मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना का लाभ हितग्राहियों को नहीं मिल पा रहा है। इसकी वजह संबल पोर्टल अक्सर बंद रहता है। मजदूरों का पंजीयन नहीं हो पा रहा है। लिंक खोलते ही एरर आ जाता है, जिससे लोगों को रोजी-रोटी से लेकर अंतिम संस्कार तक के लिए संबल नहीं मिल पा रहा है। मध्य प्रदेश सरकार ने जन्म से लेकर मृत्यु तक और रोजगार से लेकर विवाह तक श्रमिकों को आर्थिक सहायता देने के लिए संबल योजना शुरू की है। नगर पालिका अधिकारियों का कहना है, कि योजना के तहत अब तक हजारों लोगों को डेढ़ करोड़ से अधिक का लाभ दिया गया है। मजदूर वर्ग के लोग बीते 20 दिनों से परेशान है, क्योंकि उनका पंजीयन ही नहीं हो रहा है। वह जब भी नगर पालिका, कियोस्क या एमपी ऑनलाइन सेंटर पर पंजीयन कराने जाते हैं तो साइट एरर दिखाती है।

पोर्टल खुलने में आ रही है परेशानी

योजना के तहत मजदूर की दुर्घटना में मौत होने पर 4 लाख रुपये, सामान्य मौत पर 2 लाख, स्थाई अपंगता पर 2 लाख, आंशिक अपंगता पर एक लाख और अंतिम संस्कार के लिए 5 हजार रुपये की अनुग्रह राशि मिलती है। महिला को गर्भवती के दौरान अंतिम तिमाही तक जांच कराने पर 4 हजार और सरकारी अस्पताल में प्रसव होने पर 12 हजार रुपये तक की सहायता मिलती है। सरल बिजली योजना के तहत मजदूर परिवार को 200 रुपये मासिक शुल्क पर बिजली मिल रही है।

मजदूर काम-धंधा छोड़कर काट रहे चक्कर

श्रमिक वर्ग के लोग अपना काम-धंधा छोड़कर कियोस्क के चक्कर काट रहे हैं। मजदूर मानजीत बैरवा, लोकेश जाटव ने बताया कि वह मकान कारीगरी का काम करते हैं। हम लोग नपा के अलावा कियोस्क और एमपी ऑनलाइन के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन हमारा पंजीयन नहीं हो पा रहा है।

संबल योजना के पोर्टल को अपडेट करने से यह समस्या आ रही है। जल्द ही समस्या दूर हो जाएगी। – अशोकलाल गुप्ता, उपयंत्री नपा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here