संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर को पद मुक्त किए जाने की मांग

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज)। संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर के द्वारा जय आदिवासी युवा शक्ति को आतंकवादी संगठन कहे जाने और भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा को प्रशासन के द्वारा ग्राम देवरा गौशाला के लिए तोड़े जाने से नाराज बिरसा ब्रिगेड के पदाधिकारियों ने आज कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर और राज्यपाल के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा और इस मामले में त्वरित कार्यवाही ना किए जाने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। इस संदर्भ में संगठन के पदाधिकारी संतोष इनवाती ने बताया कि 19 सितंबर को संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर के द्वारा अपने अभिभाषण में आमजन के सामने जय आदिवासी युवा शक्ति आदिवासी संगठन को देशद्रोही आतंकवादी संगठन कहा जो कि पूर्णता गलत है यह संगठन संविधान में वर्णित आदिवासियों के लिए संवैधानिक अधिकार पांचवी छठवीं अनुसूची पेसा कानून जल जंगल जमीन अधिकार वन अधिकार जैसे अधिकारों को पाने के लिए गांव-गांव में जाकर आदिवासियों को जागृत करता है तथा उन्हें अपने हक अधिकारों के प्रति जागरूक कर उन्हें प्राप्त करने के लिए तैयार करता है उन्होंने कहा कि मंत्री के इस बयान से संपूर्ण भारत के आदिवासियों के मान सम्मान को ठेस पहुंची है और हमारे मौलिक अधिकारों का हनन हुआ है उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि समाज विरोधी ऐसे मंत्री को तत्काल पद मुक्त किया जाए और उनके ऊपर अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मामला की कायम किया जाए वहीं एक अन्य मामले में श्री इनवाती ने बताया कि रीवा जिले के ग्राम देवरा मैं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के द्वारा आदिवासियों के प्रणेता नेता महामानव जननायक भगवान बिरसा मुंडा जी की प्रतिमा को तोड़ा गया वहां प्रशासन के द्वारा गौशाला का निर्माण कराया जाना बताया जा रहा है यह प्रतिमा कई वर्षों से देवरा के आदिवासियों के द्वारा स्थापित की गई थी और उनका वह संरक्षण करते आ रहे थे लेकिन 20 एकड़ से ज्यादा का स्थल अतिरिक्त होने के बावजूद भी प्रशासन के द्वारा जबरन इस प्रतिमा को तोड़ा गया है यह एक शर्मनाक घटना है हमारी राज्यपाल से मांग है कि इस स्थान पर पुन: बिरसा मुंडा जी की आदम कद प्रतिमा की स्थापना किया जाए और आदिवासियों को मालिकाना हक प्रदान किया जाए यदि हमारी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो मध्य भारत के तमाम आदिवासी एकजुट होकर उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। ज्ञापन सौंपने के दौरान प्रमुख तौर पर जिला संरक्षक रमेश टेकाम, सहायक संरक्षक उदय सिंह मर्सकोले जिला कार्यकर्ता सत्येंद्र इनवाती सदस्य रामकिशोर टेकाम प्रदीप परते दिनेश उइके प्रभु दयाल उइके आशीष कोर्राम विक्रम सिंह मर्सकोले सुमित मरकाम चंद्र किरणउइके सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here