सत्येंद्र जैन ने कहा- दिल्ली में अभी 1000 आईसीयू बेड्स उपलब्ध

0

भारत में कोरोना वायरस की संख्या बढ़कर 54 लाख को पार कर गई है। देश में रोजना 90 हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। कोविड-19 से संक्रमण की संख्या में भारत अब केवल अमेरिका से पीछे है। लेकिन इसके साथ एक अच्छी खबर भी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सबसे ज्यादा लोक इस महामारी से ठीक हो चुके हैं।देश में इस महामारी से अब तक 86,572 लोगों की जान जा चुकी है। भारत में मृत्युदर भी अन्य देशों से कम है। यहां मृत्युदर घटकर 1.6 प्रतिशत पर आ गई है। इस बीच विशेषज्ञों का कहना है कि नवंबर के महीने से धान की फसल का अवशेष खेतों में जलना शुरू हो जाएगा, इससे कोरोना की समस्या बढ़ सकती है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने संसद को बताया है कि भारत में कोरोना का टीका 2021 तक आ सकता है लेकिन इस टीके को बड़ी आबादी तक पहुंचाने में थोड़ा समय लग सकता है। भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 90 हजार से अधिक मरीज ठीक हुए और इसके साथ ही इस महामारी से ठीक होने की दर 80 प्रतिशत से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया कि पिछले चौबीस घंटे में 93,356 मरीज ठीक हुए हैं। वक्तव्य के अनुसार, ‘भारत में राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने की दर 80 प्रतिशत से अधिक हो गई है। लगातार तीसरे दिन भारत में 90 हजार से अधिक मरीज ठीक हुए हैं।’

सत्येंद्र जैन ने कहा- दिल्ली में अभी 1000 आईसीयू बेड्स उपलब्धदिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि राजधानी में अभी करीब 1000 आईसीयू बेड उपलब्ध हैं। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद दिल्ली के अस्पतालों में कोविड-19 के बेड्स अब उपलब्ध नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here