स्कूल तो खोल दिए : नियमों का नहीं हो रहा पालन

0

लांजी (पद्मेश न्यूज)। प्रदेश सरकार द्वारा 21 सितंबर से कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्र छात्राओं के लिए नई गाइलाइन के साथ स्कूल प्रारंभ कर दिए गई है। किंतु ना तो नियमों का पालन किया जा रहा है ना ही विद्यार्थी अपने बालकों का सहमति पत्र लेकर आ रहे हैं। 23 सितंबर को शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कारंजा में विद्यार्थी भीड़ के साथ नजर आए, ना तो 2 गज की दूरी का पालन किया जा रहा था और ना ही छात्र संस्था अनुपात का। बुधवार को रोटेशन के तहत कक्षा 11 वीं कला व विज्ञान संकाय के 190 विद्यार्थी में से 116 विद्यार्थी उपस्थित रहे जो कि अधिकांश बिना पलकों के सहमति पत्र लिए उपस्थित हुए। ज्ञात हो कि कारंजा-कुल्पा अंचल के लोगों का सीमावर्ती महाराष्ट्र में आना जाना लगा रहता है, कुछ दिन पूर्व ही आमगांव में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढऩे से कारंजा के व्यापारियों द्वारा 5 दिन का स्वघोषित बाजार बंद रखा था, साथ ही कारंजा अंचल में तीन कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इसके बावजूद भी विद्यालय में भारी संख्या में छात्र-छात्राएं आ रहे हैं। स्थानीय जनप्रतिनिधियों का मानना है कि गाईलाइन के तहत विद्यार्थी केवल घर में पढ़ाई करते वक्त जो समस्या आ रही है उसे पुछने के लिए विद्यालय जा सकते हैं, जिसका कि शिक्षकों को समाधान करना है तथा आंशिक रूप से विद्यालय प्रारंभ रखना है, जिसका कि नियमों के तहत अब पालन नहीं हो रहा है।
ज्यादा विद्यार्थी आए तो वापस भेजेंगे- प्रभारी प्राचार्य
छात्रों की इतनी संख्या में स्कूल पहुंचने पर जब इस संबंध विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य आर. के. बेंजामिन से पूछा गया तो कहा कि छात्रों को सैनिटाइजर देकर व तापमान लेकर विद्यालय में प्रवेश दिया जा रहा है। छात्रों ने माता-पिता से व्हाट्सएप व पत्र के माध्यम से सहमति पत्र मांगा गया है। 50 प्रतिशत विद्यार्थियों ने सहमति पत्र लाए हैं। अगली बार से ज्यादा विद्यार्थी आए तो उन्हें वापस घर भेज देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here