3 करोड़ दो फिर होगी शादी..!

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज़)। मध्यप्रदेश शासन की अति महत्वपूर्ण योजना मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के हालात इतने अधिक खराब हो चुके हैं कि अब शायद ही इस योजना के अंतर्गत आगामी वर्ष में कोई अपनी शादी रचाना चाहेगा। यही हाल इस योजना के अंतर्गत पंडाल लगाने वाले, खाना बनाने वाले का भी है। ऐसा हम बीते 2 वर्ष के आंकड़ों को देखते हुए कह रहे हैं क्योंकि हितग्राही और इस योजना में काम करने वाले लोग शासकीय कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उन्हें योजना के अंतर्गत किए गए विवाह कार्यक्रम की राशि नहीं मिल पा रही है। हितग्राहियों द्वारा लंबे समय से शासन के द्वारा प्रदान की जाने वाली इस राशि के मिलने का इंतजार किया जा रहा है।
2 वर्ष से हितग्राही राशि का कर रहे हैं इंतजार
आंकड़ों पर गौर करें तो वर्ष 2018-19 में 4637 जोड़ों के विवाह अलग-अलग कार्यक्रम में करवाए गए, जिसमें अब तक 313 नव दंपति को योजना में मिलने वाली राशि 51 हजार रुपए नहीं दिए गए। कुछ इसी तरह के हालात वर्ष 2019- 20 के भी है। इस वर्ष जिले के भीतर कुल 464 जोड़ों का विवाह करवाया गया जिसमें से 222 जोड़ों को विवाह की राशि मिल गई लेकिन अब भी 242 जोड़ों को विवाह की राशि मिलने का इंतजार है।
पंडाल बर्तन और खाना बनाने वालों को भी नहीं हुआ भुगतान
इस तरह जिले के भीतर 2 वर्ष में 555 जोड़े ऐसे हैं जिन्हें विभाग की राशि नहीं मिली है जिनकी कुल राशि लगभग दो करोड़ 6 लाख 64 हजार रुपये हो रही है। इसी तरह इस मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना में पंडाल बर्तन और खाना बनाने वालों का भी भुगतान लगभग 40 लाख रुपया बाकी है।
जब तक रुकी हुई राशि नहीं मिलेगी तब तक विवाह करवाने नहीं भेजेंगे दूसरा प्रस्ताव
सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार उनके द्वारा शासन को 3 करोड रुपए का प्रपोजल भेजा गया है और पत्र में स्पष्ट रूप से लिख दिया गया है जब तक इतनी राशि उन्हें प्राप्त नहीं होती तब तक भविष्य में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना से विवाह करवाने का कोई प्रस्ताव उनके तरफ से नहीं भेजा जाएगा। हालांकि कोरोना संक्रमण के दिनों में सामूहिक विवाह कार्यक्रम नहीं हो पाएंगे उन पर बैन लगा हुआ है। लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि जिन लोगों ने इस योजना के अंतर्गत शादी कर ली उन्हें राशि का भुगतान नहीं हो पा रहा है।
3 करोड़ 36 लाख रुपए का मांग पत्र शासन को भेजा गया है – राजेंद्र पारधी
सामाजिक न्याय विभाग बालाघाट में पदस्थ कर्मचारी राजेंद्र पारधी ने बताया कि 13 प्रकरण कल्याणी विवाह के और 555 प्रकरण कन्या विवाह के है जिनको राशि भुगतान के लिए तीन करोड़ 36 लाख रुपए का मांग पत्र शासन को भेजा गया है यह भुगतान होना शेष है। राशि कटौती के संबंध में शासन के निर्देश प्राप्त नहीं है, जानकारी चल रही थी कि इसकी राशि कुछ कम हुई है पूर्ववत 28 हजार रुपए मिलेंगे। वही जो शेष है उन हितग्राही के खाते में 48 हजार रुपए और प्रायोजक के खाते में 3 हजार रुपए आएंगे। अब नए नियम के आधार पर राशि वितरित होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here