Jaya Bachchan बोलीं- जिस थाली में खा रहे, उसी में छेद कर रहे

0

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री विवादों में है। इस पर मुद्दे को राज्यसभा सदस्य जया बच्चन (Jaya Bachchan) ने मंगलवार को राज्यसभा में उठाया। Jaya Bachchan ने कहा कि मनोरंजन उद्योग में लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से भड़काया जा रहा है। इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने वाले लोग ही अब इसे नाली (गटर) कहे रहे हैं। इससे मैं पूरी तरह से असहमत हूं। मुझे उम्मीद है कि सरकार ऐसे लोगों को इस तरह की भाषा का उपयोग नहीं करने देगी। आप पूरे उद्योग की छवि को धूमिल नहीं कर सकते। मुझे शर्म आती है कि कल लोकसभा में हमारे एक सदस्य, जो फिल्म उद्योग से हैं, ने इसके खिलाफ बात की। यह शर्म की बात है।

जया के इस बयान पर रवि किशन ने प्रतिक्रिया दी। अभिनेता ने कहा, मुझे उम्मीद थी कि जया जी मेरी बात का समर्थन करेंगी। फिल्म जगत में हर कोई ड्रग्स का सेवन नहीं करता है लेकिन जो लोग करते हैं वे दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म उद्योग को खत्म करने की योजना का हिस्सा हैं। जब जया जी और मैं काम करते थे, तो स्थिति ऐसी नहीं थी, लेकिन अब हमें बॉलीवुड की रक्षा करने की आवश्यकता है।

रवि किशन ने उठाया था मुद्दा

बता दें, संसद के मानसून सत्र के पहले दिन भाजपा सांसद और भोजपुरी के नामी कलाकार रवि किशन ने ड्रग्स का मामला उठाते हुए दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की थी। रवि किशन ने कहा था, बॉलीवुड में ड्रग्स की लत काफी ज्यादा है। कई लोग इसकी गिरफ्त में हैं। एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) बहुत अच्छा काम कर रही है। मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं वह इस पर सख्त कार्रवाई करें, दोषियों को जल्द से जल्द पकड़े और उन्हें सजा दे जिससे कि पड़ोसी देशों की साजिश का अंत हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here