PM मोदी ने नए संसद भवन का किया भूमिपूजन, 2022 तक तैयार होने की संभावना

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नए संसद भवन का भूमिपूजन किया। प्रधानममंत्री मोदी के साथ इस कार्यक्रम में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, कैबिनेट मंत्री और विभिन्न देशों के राजदूत एवं उच्चायुक्त शामिल हुए। इस कार्यक्रम में देश के कुछ मुख्यमंत्री और राज्यपाल भी वर्चुअली जुड़े। देश में नए संसद भवन का निर्माण 971 करोड़ रुपए की लागत से 2022 तक पूरा होने की संभावना है। कुछ देर बाद प्रधानमंत्री मोदी कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। नए संसद भवन में भारत की लोकतांत्रिक विरासत को प्रदर्शित करने के लिए एक भव्य कांस्टीट्यूशन हाल भी होगा।

नए संसद भवन में होगी ये व्यवस्था

नए संसद भवन में अत्यधिक सुविधाजनक होगा। संयुक्त सत्र के दौरान लोकसभा में बैठने की क्षमता बढ़ाई जा सकेगी। इसके अलावा इसमें संसद सदस्यों के लिए लाउंज, पुस्तकालय, विभिन्न समितियों के लिए कक्ष, भोजन करने का स्थान और पार्किग के लिए पर्याप्त जगह होगी। नए भवन के लोकसभा चैंबर में 888 सदस्यों और राज्यसभा चैंबर में 384 सदस्यों के बैठने की क्षमता होगी। नए संसद भवन का डिजाइन अहमदाबाद के मैसर्स एचसीपी डिजाइन और मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने तैयार किया है। नई संसद का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड करेगी। संयुक्‍त सत्र के दौरान लोकसभा कक्ष में 1224 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी।

चार मंजिला होगा नया संसद भवन

नया संसद भवन 64500 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बनाया जाएगा और इसके निर्माण पर 971 करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। इसका निर्माण कार्य भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ यानी 2024 तक तक पूरा कर लिया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, नई संसद में हर संसद सदस्य को कार्यालय के लिए 40 वर्ग मीटर जगह दी जाएगी। उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू एवं लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 05 अगस्त 2019 को नई संसद भवन के निर्माण का प्रस्ताव क्रमशः राज्यसभा और लोक सभा में रखा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here