इंडेन की नई सर्विस:1 फरवरी से शुरू होगी तत्काल LPG सेवा, बुकिंग के बाद 45 मिनट में हो जाएगी गैस सिलेंडर की डिलिवरी

0

लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस यानी LPG या कुकिंग गैस की डिलिवरी के लिए किया जाने वाला लंबा इंतजार जल्द ही खत्म होने जा रहा है। इंडेन नाम से गैस बेचने वाली इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (IOCL) तत्काल LPG सेवा लॉन्च करने की तैयारी कर रही है। इस सेवा के तहत उपभोक्ता को बुकिंग वाले दिन ही गैस सिलेंडर की डिलिवरी हो जाएगी।

हर राज्य के एक जिले से शुरू होगी सेवा

IOCL के एक उच्च अधिकारी के नोट के मुताबिक, तत्काल LPG सेवा 1 फरवरी को लॉन्च होगी। प्रत्येक राज्य/केंद्र शासित प्रदेश के कम से कम एक जिला या प्रमुख शहर से इस सेवा की शुरूआत होगी। नोट के मुताबिक, इस सेवा के तहत बुकिंग के बाद उपभोक्ता को 45 मिनट के भीतर गैस सिलेंडर की डिलिवरी सुनिश्चित की जाएगी। केंद्र सरकार के ईज ऑफ लिविंग सिद्धांत और सेवाओं में सुधार के लिए इश सेवा को शुरू किया जा रहा है।

इंडेन के पास करीब 14 करोड़ उपभोक्ता

देश में करीब 28 करोड़ LPG उपभोक्ता हैं। इसमें से करीब 14 करोड़ उपभोक्ता इंडेन के पास हैं। इस मामले से वाकिफ एक अधिकारी के मुताबिक, तत्काल योजना के लिए डीलर्स के मौजूदा डिलिवरी नेटवर्क का ही इस्तेमाल किया जाएगा। इस सेवा का लाभ लेने के लिए उपभोक्ताओं को प्रति डिलिवरी 25 रुपए की अतिरिक्त फीस देनी होगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रांति फेस्टिवल को देखते हुए ग्रेटर हैदराबाद में इस स्कीम को 16 जनवरी से ही लॉन्च कर दिया गया है।

सुबह 8 से दोपहर 2 बजे के बीच करानी होगी बुकिंग

IOCL के अधिकारियों के मुताबिक, तत्काल LPG सेवा का लाभ लेने के लिए उपभोक्ताओं को सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच बुकिंग करानी होगी। तत्काल LPG सेवा को लेकर IOCL नया मोबाइल ऐप लॉन्च करने की तैयारी भी कर रही है। इस सेवा के तहत उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बुकिंग के आधार पर डिलिवरी की जाएगी।

2010 में भी शुरू हुई थी ऐसी सेवा

यह पहला मौका नहीं है जब तत्काल गैस डिलिवरी सेवा शुरू की जा रही है। जुलाई 2010 में तत्कालीन तेल मंत्री मुरली देवड़ा ने प्रीफर्ड टाइम LPG डिलिवरी स्कीम लॉन्च की थी। इस स्कीम के तहत उपभोक्ताओं को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक गैस सिलेंडर की डिलिवरी की जाती थी। इसके लिए 20 से 50 रुपए प्रति डिलिवरी की अतिरिक्त फीस ली जाती थी। एक LPG डीलर के मुताबिक, कम जानकारी के कारण उपभोक्ता इसका लाभ नहीं ले पाए थे। बाद में इस स्कीम को बंद करना पड़ा था।

गैस सिलेंडर की डिलिवरी में होती है 30 दिन से ज्यादा तक की देरी

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMAU) के तहत गैस सिलेंडर की डिलिवरी में देरी को लेकर कम्पट्रोलर एंड ऑडिटर जनरल ऑफ इंडिया (CAG) ने दिसंबर 2019 में एक रिपोर्ट जारी की थी। रिपोर्ट के मुताबिक, इस योजना के तहत 3.662 मिलियन सिलेंडर में से 5.94 लाख की डिलिवरी 30 दिन से ज्यादा की देरी से हुई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, 1209 LPG डिस्ट्रीब्यूटर्स ने 100 से ज्यादा गैस सिलेंडर्स की डिलिवरी 30 दिन से ज्यादा समय की देरी से की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here