बालाघाट : यह कैसा टैलेंट सर्च..? बगैर संसाधन के खेल विभाग करेगा टैलेंट सर्च,टैलेंट सर्च के लिए खिलाडिय़ो से भरवाए जा रहे ऑनलाइन आवेदन !

0

बालाघाट (पद्मेश न्यूज)। खेल एवं युवा कल्याण विभाग के द्वारा जिले के मेधावी खिलाडिय़ों को महानगरों में स्थापित विभिन्न खेल एकेडमी में प्रवेश देकर उन्हें प्रशिक्षण के माध्यम से विभिन्न खेल विधाओं में अवसर प्रदान करने के लिए टैलेंट सर्च योजना का संचालन किया जा रहा है जिसको लेकर जिले में भी विभिन्न खेल विधाओं में खिलाडिय़ों से ऑनलाइन आवेदन भरवाए जा रहे हैं जिनका फिजिकल फिटनेस सहित अन्य टेस्ट जिला स्तर पर ही कराए जाने हैं जहां से वे संभाग स्तर पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे ।लेकिन जिले में युवाओं के टैलेंट को परखने के लिए संसाधनों की काफी कमी नजर आ रही है जहां एक और मैदानों की दुर्दशा है वही अन्य खेलों को लेकर भी व्यवस्था बेहतर नहीं है जबकि शासन के निर्देश हैं कि खिलाडिय़ों की प्रतिभा को परखने के लिए बेहतर मैदान 200 मीटर का ट्रैक सहित अन्य व्यवस्था होना आवश्यक है अब इन हालातों में खेल विभाग खिलाडिय़ों की प्रतिभा को किस प्रकार से  आंकता है यह आने वाला समय ही बताएगा खेल विभाग के कर्मचारियों की माने तो जो संसाधन उपलब्ध हैं उसी के आधार पर खिलाडिय़ों का फिजिकल टेस्ट लिया जाएगा इसके बाद उन्हें संभाग स्तर पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का मौका दिया जाएगा।
24 अगस्त से 4 सितंबर के बीच आयोजित होना है टैलेंट सर्च
खेल विभाग के निर्देशों के तहत 24 अगस्त से 4 सितंबर के बीच टैलेंट सर्च का जिला स्तर पर आयोजन किया जाना है और यह आयोजन जिला स्तर से खेल में रुचि रखने वाले सातवीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक के बालक बालिका खिलाड़ी जिनकी आयु कम से कम 12 वर्ष से अधिक है वहीं जिला स्तर पर खिलाडिय़ों के प्रतिभा खोज ऑनलाइन रजिस्टर फॉर्म भी तैयार किए गए हैं जिसमें रजिस्ट्रेशन फॉर्म में खिलाड़ी को अवनीश तमाम जानकारी देना होगा टैलेंट सर्च में स्कूल शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग के राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के पदक विजेता खिलाडिय़ों को भी शामिल किए जाने के निर्देश दें एवं उनके जिला शिक्षा अधिकारी एवं खेल अधिकारी से समन्वय स्थापित कर पंजीयन कार्रवाई सुनिश्चित किए जाने के आदेश है प्रत्येक जिले में दो या तीन प्रचलित खेल ऐसे होते हैं जिन्हें क्षेत्र में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी मिल सकते हैं और ऐसे खिलाडिय़ों को इस टैलेंट सर्च अभियान में शामिल किया जाएगा।
जिले में खेल प्रतिभाओं को आंकने संबंधी संसाधनों की कमी
खेल विभाग के द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देश के तहत टैलेंट सर्च के लिए जिला मुख्यालय पर 7 फिजिकल टेस्ट के लिए आदर्श स्टेडियम खेल परिसर का चयन किए जाने क्या देश है जिसमें कम से कम 200 मीटर का ट्रैक उपलब्ध होना अनिवार्य है वही 100 खिलाडिय़ों का प्रतिदिन टैलेंट सर्च किया जाना है वही खिलाडिय़ों के पंजीकृत होने के बाद उनका फिजिकल फिटनेस टेस्ट के माध्यम से स्कूटनी के बाद मेरिट लिस्ट के आधार पर खिलाडिय़ों को चिन्हित कर उन्हें संभाग स्तरीय स्किल टेस्ट के लिए भेजा जाना है अब बात करें व्यवस्थाओं की तो जिले में वर्तमान स्थिति में कोई भी मैदान ऐसा नहीं है जहां पर फिजिकल टेस्ट किया जा सके जिला स्तर पर शासकीय उत्कृष्ट मैदान की पहले ही दुर्दशा हो चुकी है इसके अलावा हॉकी मैदान, मुलना स्टेडियम भी ग्रास फील्ड बनाए जाने का कार्य काफी महीनों से चल रहा है जो अब तक पूरा नहीं हो पाया है जिसके कारण यह मैदान भी फिजिकल टेस्ट आयोजित करने के लिए बेहतर विकल्प साबित नहीं होगा इसके अलावा जो भी मैदान है उनमें 200 मीटर ट्रैक उपलब्ध नहीं है वही तैराकी के लिए खेल विभाग के बाद स्विमिंग पूल भी नहीं है वाटर स्पोर्ट के खेलो जैसे क्याकिंग कैनोइंग रोइंग सेलिंग जैसे खेलों के लिए करना अनिवार्य है वही आदेश के अनुसार खिलाडिय़ों को 50 मीटर तक तेराकर टेस्ट लिया जाना है।
टैलेंट सर्च आयोजन को लेकर तलाशा जाएगा विकल्प -केदार ठाकरे
इस संदर्भ में दूरभाष पर चर्चा के दौरान खेल विभाग के कर्मचारी केदार ठाकरे ने बताया कि खेल विभाग के द्वारा टैलेंट सर्च को लेकर आयोजन किए जाने के दिशा निर्देश जारी किए गए हैं और यह 24 अगस्त से 4 सितंबर के बीच आयोजित किया जाना है जिसको लेकर खिलाडिय़ों के द्वारा ऑनलाइन पंजीयन किया जा रहा है उन्होंने कहा कि आयोजन को लेकर तमाम तैयारियां की जा रही है और बेहतर विकल्प की तलाश की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here