मंदसौर : 1480 किसानों ने बेचे 20 करोड़ के गेहूं, अभी नहीं हुआ भुगतान

0

 समर्थन मूल्य पर जिले में अब तक 1480 किसानों ने 10 हजार 182 मीट्रिक टन गेहूं बेचे हैं। इतने गेहूं का भुगतान 20 करोड़ से अधिक है, लेकिन अब तक भुगतान की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है। जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक का कहना है कि भुगतान की प्रक्रिया सीधे भोपाल से ही होगी। इधर कुछ केंद्रों पर गेहूं खरीदी में तेजी आ रही है, लेकिन चना, मसूर और सरसों की खरीदी की प्रक्रिया बेहद धीमी गति से ही चल रही है। इस कारण खरीदी शुरू होने के 11 दिन बाद भी कई केंद्रों पर सन्नााटा छाया हुआ है।

समर्थन मूल्य पर 27 मार्च से खरीदी शुरू हुई है, लेकिन किसान अभी भी समर्थन पर उपज बेचने में कम ही रुचि ले रहे हैं। जिला आपूर्ति निगम कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 दिनों में गेहूं विक्रय के लिए 8164 किसानों को एसएमएस पहुुंचे हैं। इनमें से छह अप्रैल तक 1480 किसान ही जिले के 64 केंद्रों पर गेहूं विक्रय के लिए पहुंचे हैं। एसएमएस प्राप्त होने के बाद भी करीब साढ़े छह हजार किसान गेहूं बेचने नहीं आए हैं। अब तक 1480 किसानों से 10 हजार 182 मीट्रिन टन गेहूं की खरीदी हुई है। अब तक खरीदे गए गेहूं का भुगतान 20 करोड़ 11 लाख रुपये के लगभग है। लेकिन जिलें में अभी किसानों को भुगतान नहीं हुआ है। वहीं चना, सरसों और मसूर की खरीदी प्रक्रिया बहुत धीमी गति से चल रही है। इसके कारण कई खरीदी केंद्रों पर सन्नााटा पसरा हुआ है।

10 दिनों में रेवासदेवड़ा सोसायटी केंद्र पर एक भी किसान नहीं पहुंचा चना बेचने

बाजखेडी। अमलावद सोसायटी द्वारा रामदर्शन वेअर हाउस पर गेहूं खरीदी की जा रही है, लेकिन यहां पर खरीदी शुरू होने के 10 दिन बाद भी सन्नााटा ही पसरा हुआ है। सोसायटी के प्रबंधक नदंलाल धनगर ने बताया कि रोजाना बीस किसानों को एसएमएस भेजा जा रहा है, लेकिन केंद्रों पर मात्र दो-तीन किसान ही गेहूं बेचने के लिए आ रहे हैं।

अमलावद सोसायटी के खरीदी केंद्र पर 27 मार्च से अब तक 15 किसानों से 1394 क्विंटल गेहूं खरीदी हुई है। तीन किसानों से सात क्विंटल 50 किलो चना की खरीदी हुई है। रेवासदेवड़ा सोसायटी के प्रबंधक श्यामलाल साहू ने बताया कि अब तक 1600 क्विंटल गेहूं की खरीदी हुई है। प्रतिदिन बीस किसानों को एसएमएस किये जा रहे हैं। इनमें 15 छोटे व पांच किसान बढ़े किसानों को एसएमएस भेजे जा रहे हैं। दिनभर में दो-तीन किसान ही खरीदी केंद्र पर पहुंच रहे हैं। रेवासदेवड़ा सोसायटी प्रबंधक साहू ने बताया कि चना लेकर अभी एक भी किसान नहीं आया है।

– समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी में भुगतान की प्रक्रिया भोपाल से ही होगी। किसानों के खातों में राशि आएगी। अभी भुगतान प्रारंभ नहीं हुआ है। -पीएन यादव, प्रबंधक, जिला सहकारी बैंक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here